गुहला-चीका में सरकारी दफ्तर में गुंडागर्दी, ऑन ड्यूटी एसडीओ पर हमला

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें हरियाणा

Yuva Haryana
Guhla Cheeka, 9 May, 2018

चीका स्थित पब्लिक हैल्थ के एस.डी.ओ. पर उस समय जान लेवा हमला हो गया जब वे अपनी ड्यूटी पर तैनात थे जिसको लेकर पूरे शहर में हडक़ंप मच गया, वहीं सरकारी कार्यालयों में तैनात अधिकारी व कर्मचारी दहशत के माहौल में है। हालांकि एस.डी.ओ. पर हुए हमले की सूचना पाकर चीका पुलिस भी दलबल के साथ मौके पर पहुंचे और स्थिति को काबू किया।

एस.डी.ओ. वेदपाल सिंह के अनुसार पब्लिक हैल्थ के कार्यालय में जब अपनी ड्यूटी पर बैठे हुए थे तो उनके कार्यालय में 20 से 25 व्यक्ति अंदर घुसे और उन्होंने बिना कुछ बात किए उन पर हमला कर दिया जिससे उनको गंभीर चोटें आई। हालांकि एस.डी.ओ. ने हमला होते ही चीका थाना प्रभारी को तुरंत सूचित किया जो हमले के दौरान एस.एच.ओ. चीका को मुझे बचाओ, मुझे बचाओ कहना हुआ सुनाई दे रहा है।

वेदपाल ने बताया कि रायपुर रानी से उनका तबादला चीका हो गया था लेकिन चीका से कुछ ही दिन बाद उनका तबादला टोहना कर दिया गया। वेदपाल ने कानूनी प्रक्रिया अपनाते हुए माननीय पंजाब एवं हरियाणा उच्च न्यायालय का दरवाजा खटखटाया जिसमें माननीय न्यायालय ने एस.डी.ओ.  के तबादले पर 9 फरवरी को स्टे कर चीका पब्लिक हैल्थ के कार्यालय में एस.डी.ओ. के पद पर कार्यरत रहते हुए स्टे कर दिया।

एस.डी.ओ. का आरोप है कि जब वे चीका में तैनात थे तो गुहला के विधायक कुलवंत बाजीगर ने उनसे मंथली की मांग की थी लेकिन जब उन्होंने मंथली देने से इंकार कर दिया तो उनका तबादला करवा दिया गया।

वेदपाल सिंह ने बताया कि अब उनसे उनके एक रिश्तेदार जो नगरपालिका कार्यालय में सचिव के पद पर तैनात है ने पानी के टैंकर भरने की मांग की जिस पर एस.डी.ओ. ने सचिव महोदय को कहा कि पब्लिक हैल्थ के कार्यालय में यह पानी जनता के पीने के लिए न कि किसी भी निर्माण कार्य पर प्रयोग करने के लिए। जैसे ही एस.डी.ओ. ने पानी के लिए मना किया तो उन्हें फोन पर यह कहा गया कि हम यहीं आ रहे है तो देखते है पानी कैसे नहीं देता।

एस.डी.ओ. ने कहा कि जब उन्हें पानी से इंकार कर दिया तो 10 से 12 मिनट में ही 20 से 25 लोगों ने उन पर हमला कर दिया। एस.डी.ओ. ने बताया कि जिसमें से 4 लोगों की पहचान की है अधिकतर नगरपालिका के सचिव सहित अन्य कर्मचारी मौजूद थे।

एस.डी.ओ. ने हमलावरों के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की है। एस.डी.ओ. ने बताया कि उन पर हुए हमले की विडियों कलिप सोशल मीडिया पर वायरल हो चुकी है। इसके साथ ही एसडीओ ने कहा कि इस पूरे मामले का मास्टरमाइंड विधायक कुलवंत बाजीगर है और कुलवंत बाजीगर के इशारे पर ही मेरे ऊपर मेरे ऑफिस में हमला किया गया है एस.डी.ओ. पर हुए हमले को लेकर तमाम सरकारी संगठनों व अफसर लोभी में भारी रोष है।

वहीं दूसरी और आज इस मामले में नया मोड़ हमें आ गया जब नगर पालिका सचिव ने जन स्वास्थ्य विभाग के एसडीओ पर अपने कर्मचारियों के साथ हाथापाई के आरोप लगाया दिए इस बारे में आज DSP गुहला से मिले और एसडीओ के खिलाफ कार्रवाई की मांग की । इसके साथ ही नगर पालिका सचिव अशोक कुमार ने इस पूरे मामले को जातिगत मामले का तूल दे दिया और कहा कि यह दलित लोगों के साथ अन्याय है वह दलित लोगों के साथ अन्याय नहीं होने देंगे उन्होंने चीका थाना प्रभारी पर एसडीओ से मिलीभगत के आरोप भी लगा दिए

वहीं इस पूरी घटना से समाजसेवी लोगों में रोज देखने को मिला और समाजसेवी लोग जन स्वास्थ्य विभाग के एसडीओ के समर्थन में आए और इस पूरे हमले की निंदा की और जन स्वास्थ्य विभाग के एसडीओ को समर्थन देने के बाद उन्होंने नगर पालिका सचिव अशोक कुमार और भाजपा विधायक कुलवंत बाजीगर के खिलाफ नारेबाजी कर पुतला फूंका।

 

Read This News Also>>>डाक्टरों और अन्य स्टाफ कर्मचारियों के साथ मारपीट या दादागिरी बर्दाश्त नहीं की जाएगी- अनिल विज

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *