बहादुरगढ़ में हुई पुलिस और नामी बदमाशों में मुठभेड़

अनहोनी हरियाणा

बहादुरगढ़, बादली के गोयला कलां गांव के पास पुलिस और बदमाशों की मुठभेड़ हुई। मुठभेड़ के बाद पुलिस दो बदमाशों को काबू करने में सफल हुई। इस मुठभेड़ में बदमाशों और पुलिस के बीच जमकर गोलियां चली। पकड़े गये दोनों आरोपियों से पुलिस ने 11 अवैध हथियार और भारी मात्रा में गोलियां बरामद की है।

आरोपियों की पहचान सीटू बवाना और नूना माजरा के अजय के रूप में हुई है। बता दें कि आरोपी सीटू पर 8 और अजय पर 15 आपराधिक मामले पहले से ही दर्ज है। बदमाशों पर बहादुरगढ़ और दिल्ली में हत्या, हत्या के प्रयास और लूट के मामले दर्ज हैं।

झज्जर के एसपी बी. सतीश बालन ने बताया कि पुलिस ने गुभाना गांव के पास एक नाका लगाया था। दोपहर के समय दोनों बदमाश अपनी स्विफट गाडी में सवार होकर वहां पहुंचे। जब पुलिस ने उन्हें रूकने का इशारा किया तो बदमाशों ने नाका तोड़कर भागते हुये पुलिस पर फायरिंग शुरू कर दी। पुलिस की टीम ने उन्हे तुरंत घेर कर काफी मश्क्कत के बाद काबू करने में सफलता हासिल की।

उन्होंने बताया कि आरोपियों पर दिल्ली के बवाना में एक बीजेपी कार्यकर्ता पर गोली चलाने का भी आरोप है। प्रारंभिक पूछताछ में पता चला है कि पकड़े गये दोनों आरोपी बहादुरगढ़ के कांग्रेसी नेता मोनू जून की हत्या के मुख्य आरोपी नूना माजरा गांव के मोस्टवांटिड बदमाश अनिल गंजा और उसके भाई लाला की हत्या करने की प्लानिंग कर रहे थे। यानी उनका अगला टारगेट अनिल और लाला थे। पकड़े गये आरोपियों को कल कोर्ट में पेश किया जायेगा। पुलिस पूछताछ में इनसे और भी कई बड़े मामलों का खुलासा होने की उम्मीद जता रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *