किसी भी हाल में भ्रष्टाचार को सहन नहीं करेगी सरकार, मुख्यमंत्री हो या सरपंच सबको देना पड़ेगा हिसाब – कैप्टन अभिमन्यु

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें युवा राजनीति रोजगार सरकार-प्रशासन हरियाणा हरियाणा विशेष

Ajay Lohan, Yuva Haryana

Hisar 30 March, 2018

हिसार के पास नारनौंद के गांव माजरा के आईटीआई में शिक्षा विभाग की तरफ से सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाली बेटियों के सम्मान में एक सम्मान समारोह का आयोजन किया गया।

इस कार्यक्रम में वित्त मंत्री कैप्टन अभिमन्यु ने मुख्य अतिथि के रूप में शिरकत की।

समारोह में हांसी खण्ड द्वितीय और नारनौंद के 57 सरकारी स्कूलों की आठवीं कक्षा की 1004 छात्राओं ने भाग लिया। जिसमें कैप्टन ने बच्चियों को पुरस्कार भी भेंट किए।

इस दौरान कैप्टन ने बताया कि हरियाणा सरकार मेरिट के आधार पर भर्ती कर रही है। आने वाले समय में भी केवल होनहार बच्चों को आगे बढ़ने का मौका मिलेगा।

विद्या के आधार पर बच्चा जीवन के सबसे ऊँचे स्तर पर जा सकता है। शब्दकोष से जहां भाषा के ज्ञान में वृद्वि होती है, वहीं एटलस के माध्यम से भौगोलिक जानकारी मिलती है। इसलिए शब्दकोश और एटलस को शिक्षा का आधार कहना गलत नहीं होगा।

उन्होंने कहा कि एक शिक्षित बेटी एक शिक्षित बेटे से ज्यादा महत्वशाली होती है। क्योंकि बेटे से एक परिवार संवरता है, जबकि बेटी दो परिवारों को संवारती है।

वित्त- राजस्व मंत्री कैप्टन अभिमन्यु ने कहा कि सड़कों का जहां विकास से गहरा सम्बन्ध है, वहीं सड़कें सुरक्षा की दृष्टि से भी महत्व रखती हैं। इसी के दृष्टिगत प्रदेश के सभी गांवों को एक दूसरे से जोड़ने के लिए सम्पर्क सड़कों का निर्माण किया जा रहा है।

वे आज गांव  मोठ में मोठ- डाटा सम्पर्क सड़क की आधारशिला रखने उपरान्त एक ग्रामीण जनसभा को सम्बोधित कर रहे थे।  इस सड़क की लम्बाई लगभग 10 किलोमीटर है और ये  18 फुट चौड़ी होगी और इसके निर्माण पर पांच करोड़ साठ लाख रुपये खर्च होंगे।

उन्होंने कहा कि नारनौंद क्षेत्र को विकास के मामले में अग्रणी बनाया जाएगा और इसके लिए प्रयास निरंतर जारी है। वर्तमान सरकार ‘सबका साथ- सबका विकास’ नीति के अनुरूप समान विकास कर रही है। किसी भी क्षेत्र से कोई भेदभाव नहीं किया जा रहा।

नई सड़कों का निर्माण किया गया है और क्षतिग्रस्त सड़कों की मरम्मत की गई है। नये महाविद्यालयों और विद्यालयों का निर्माण किया गया है। उन्होंने आगे कहा कि नये औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान स्थापित किए गए हैं। इन संस्थानों में आधुनिक मांग के अनुसार व्यवसायिक प्रशिक्षण आरम्भ किए गए हैं, ताकि प्रशिक्षित युवाओं को रोजगार प्राप्त करने में कोई दिक्कत न हो।

कैप्टन ने कहा कि जिस क्षेत्र में सभी प्रकार की मूलभूत सुविधाएं होती हैं, उस क्षेत्र में औद्योगिक घरानों द्वारा उद्योग स्थापित करना प्राथमिकता होती है। इसलिए नारनौंद क्षेत्र में हर प्रकार की सुविधा उपलब्ध करवाने की योजनाएं लागू की गई हैं।

क्षेत्र में साढ़े तीन सौ करोड़ रुपये की लागत से पैट्रोलियम डिपो बनाया जा रहा है, जिसमें युवाओं को रोजगार के नये अवसर प्राप्त होंगे। उन्होंने कहा कि क्षेत्रवासियों की सुविधा के लिए नारनौंद को उपमंडल का दर्जा दिया गया है।

सरपंचो के ई प्रणाली के विरोध पर कैप्टन अभिमन्यु ने कहा कि कानून के दायरे में हमे अपना काम करना है। हमे ईमानदारी और पारदर्षिता के हक में काम करना चाहिए। ईमानदारी से कोई समझोता नहीं करेगें। प्रदेष की जनता की  कमाई का पूरा हिसाब रखेगें।

इस मामले मे चाहे प्रदेश का मुख्यमंत्री हो या किसी गांव का सरपंच हो, उससे पाई- पाई का हिसाब लिया जाएगा। ये केन्द्र सरकार का कार्यक्रम है इसमें किसी प्रकार की कोताही नही सहन की जायेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *