तीन राजनैतिक परिवारों ने हरियाणा की जनता को गुलाम बनाए रखा, अब मिली है आजादी- वित्तमंत्री

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें राजनीति सरकार-प्रशासन हरियाणा हरियाणा विशेष
Rajkumar, Yuva Haryana
Meham, 01 Dec, 20-18
वित्तमंत्री कैप्टन अभिमन्यु आज महम चौबीसी क्षेत्र के गांव फरमाणा में आयोजित कार्यकर्ता मिलन समारोह में पहुंचे। इस दौरान उन्होंने कार्यकर्ताओं से मिलकर उनका हाल-चाल पूछा और सरकार द्वारा चलाई जा रही कल्याणकारी योजनाओं की जानकारी दी।
कैप्टन अभिमन्यु ने कहा कि सरकार सभी वर्गाें के कल्याण के लिए काम कर रही है। जितना रोजगार पिछली सरकारों ने शहीदों के परिवारों को दिया था, इस सरकार ने उससे कहीं ज्यादा रोजगार दिया है। बिना सिफारिश के नौकरियां दी जा रही हैं। किसानों जितना मुआवजा पिछली सरकारों ने दिया, उससे कहीं आगे बढ़कर हजारों करोड़ रुपए किसानों के खाते में डाले।
वित्तमंत्री ने कहा कि आज हरियाणा के नौजवान पढ़ाई में जुटे हुए हैं। क्योंकि अब प्रदेश में सिफारिश से रोजगार नहीं मिलता। यहां पर मैरिट में आने वाले विद्यार्थी अपने आप नौकरी हासिल करते हैं। गरीबों के बच्चे आज प्रदेश में अफसर भर्ती हो रहे हैं। जबकि पहले मंत्रियों, विधायकों व नेताओं के परिवारों के नौजवान या फिर उनके रिश्तेदार अफसर भर्ती होते थे। लेकिन अब किसी मंत्री के परिवार और उसका रिश्तेदार नहीं बल्कि प्रतिभावान नौजवान अपने दम पर अफसर बन रहे हैं।
हरियाणा के वित्त मंत्री कैप्टन अभिमन्यु ने कहा है कि प्रदेश के तीन राजनैतिक परिवारों ने दशकों तक हरियाणा की जनता को अपना गुलाम बनाये रखा और जमकर संसाधनों की लूट मचाई की। कैप्टन अभिमन्यु आज महम उपमंडल के गांव फरमाणा में पार्षद मनोज पहलवान द्वारा आयोजित मिलन समारोह में उपस्थित ग्रामीणों को संबोधित कर रहे थे।
उन्होंने कहा कि प्रदेश में तीन राजनैतिक परिवारों ने आपस में मिलकर राजनैतिक खेल खेला ओर जतना को गुमराह करके सत्ता को एक दूसरे के पास ट्रांसफर करते रहे।
वित्तमंत्री ने कहा कि राजनैतिक परिवारों की इस गुलामी के चलते आमजन को मजबूर होकर इन लोगों के सामने अपने कार्य करवाने के लिए नतमस्तक होना पड़ता था। उन्होंने कहा कि ये लोग चुनाव के दिनों में जात-पात, गोत्र, गांव व खाप आदि के आधार पर लोगों को आपस में लड़ा कर सत्ता तक पहुंचने का कार्य करते थे। कैप्टन अभिमन्यु ने कहा कि भाजपा ने सत्ता में आने के बाद राजनीति की इस संस्कृति को बदलने का संकल्प लिया था। जो जनता के सहयोग से पूरा हुआ है।
कैप्टन अभिमन्यु ने कहा कि भाजपा एक ऐसा राजनैतिक संगठन व विचारधारा है, जो परिवारवाद, क्षेत्रवाद व व्यक्तिवाद की राजनीति को समाप्त करके भारत को फिर से महाशक्ति बनाने के लिए काम कर रहा है।
उन्होंने कहा कि किसानों के नाम पर राजनीति करने वाले लोगों ने सत्ता में रहते हुए दस साल में किसानों को दस साल में केवल मात्र 800 करोड़ रुपये फसलों के नुकसान का मुआवजा दिया, जबकि भाजपा की मौजूदा राज्य सरकार ने अपने चार साल के कार्यकाल मेें तीन हजार करोड़ रुपये का मुआवजा किसानों को दिया है। उन्होंने कहा कि पिछली सरकारों के दौरान प्रति एकड़ के हिसाब से साढ़े सात हजार का मुआवजा दिया जाता था भाजपा की सरकार ने इसे बढ़ाकर साढ़े बारह हजार प्रति एकड़ कर दिया है। उन्होंने यह भी कहा कि पिछली सरकारों के दौरान गिरदावरी में भी सिफारिशें चलती थी लेकिन भाजपा की सरकार में गिरदावरी का काम निष्पक्षता के साथ किया जाता है।
वित्तमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार के दौरान स्वामी नाथन आयोग का गठन किया गया था। लेकिन दस साल तक यूपीए की केंद्र सरकार ने इस रिपोर्ट को अलमारी में बंद रखा। कमेटी के अध्यक्ष होते हुए भी पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डïा केंद्र सरकार को कोई सुझाव नहीं दे पाये। उन्होंने कहा कि सरकारी नौकरी पाने के लिए अब अभिभावकों को नेताओं के चक्र नहीं काटने पड़ते बल्कि मैरिट के आधार पर नौकरियां मिलती है। उन्होंने कहा कि पिछली सरकारों के दौरान परिवारवाद व भाई-भातिजावाद के चलते किसी का हक मारकर दूसरे को सिफारिश के आधार पर दे दिया जाता था। वर्ष 2015 में हुई एचसीएस भर्ती का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि इस भर्ती में एक कंडेक्टर की बेटी ने पहला स्थान हासिल किया था। उन्होंने पेंशन के नाम पर पिछली सरकार द्वारा झूठी लोकप्रियता हासिल करनक का आरोप लगाते हुए नारा दिया कि असली मौज इब बुढापे मै-2000 रुपये सीधे बैंक खाते मै। उन्होंने कहा कि पिछली सरकार ने मामूली राशि बढ़ाकर दिवारों पर स्लोगन लिखवा दिये था लेकिन भाजपा की सरकार ऐसा नहीं करती।
उन्होंने कहा कि भाजपा की सरकार ने शहीद परिवारों का पूरा मान-सम्मान किया है। सरकार ने चार साल में 340 शहीद परिवारों के सदस्यों को नौकरियां प्रदान की है, जबकि पिछली सरकार के दस वर्ष के कार्यकाल में 18 शहीद परिवारों को नौकरियां मिली थी। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार ने पिछला 45 वर्ष के रिकॉर्ड की जांच पड़ताल करके भी वंचित परिवारों को नौकरियां देने का काम किया है। कैप्टन अभिमन्यु ने कहा कि पिछली सरकार ने खिलाडिय़ों की 85 करोड़ रुपये की पुरस्कार राशि को जारी नहीं किया था, लेकिन भाजपा की वर्तमान सरकार ने नियमों में बदलाव करके एक ही दिन में खिलाडिय़ों की इस पुरस्कार राशि को जारी कर दिया।
कैप्टन अभिमन्यु ने कहा कि पिछली सरकारों के दौरान लगातार बिजली की दरों में वृद्घि होती थी लेकिन भाजपा की पहली ऐसी सरकार है जिसने बिजली की दरों को घटाने का काम किया है। उन्होंने कहा कि सरकार ने लगभग 47 प्रतिशत की सब्सीडी देकर बिजली के बिलों को जहां आधा कर दिया है वहीं पेंशन की राशि बढ़ा दी है। इस प्रकार से सरकार ने आमदनी को बढ़ाया है और खर्चा कम कर दिया है। उन्होंने ग्रामीणों को विश्वास दिलाया कि नारनौंद की तर्ज पर महम विधानसभा क्षेत्र का भी विकास करवाया जायेगा। उन्होंने आयोजकों को 11 लाख रुपये की अनुदान राशि देने की भी घोषणा की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *