धरातल पर उतरे मनोहर सरकार के मंत्री, वित्तमंत्री ने सिसाय से शुरु की पैदल यात्रा

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें सरकार-प्रशासन हरियाणा हरियाणा विशेष
Ajay Lohan, Yuva Haryana
Narnoud, 03 Oct, 2018
हरियाणा की मनोहर सरकार के मंत्री अब जनता के बीच धरातल पर जाकर पसीना बहाने लगे हैं। हवाई यात्रा पर ब्रेक के बाद अब खट्टर सरकार के मंत्री जनता के बीच जाएंगे और दस किलोमीटर तक की पैदल यात्रा गांवों में करेंगे। वित्तमंत्री कैप्टन अभिमन्यु ने नारनौंद के सिसाय गांव से अपनी पैदल यात्रा की शुरुआत की।
इस मौके पर वित्तमंत्री कैप्टन अभिमन्यु ने कहा कि कांग्रेस वोट के नाम पर लोगों को बहकाने का काम कर रही है। इस पार्टी ने हमेशा फूट डालो और राज करो की नीति से देश को लूटने का काम किया है। उन्होंने कहा कि गांव सिसाय में 11 करोड़ रुपये की लागत से जलघर का निर्माण करवाया जाएगा जिसकी प्रक्रिया लगभग पूरी की जा चुकी है।
उन्होंने बताया कि गांधी जयंती के उपलक्ष्य में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आह्वान पर देशभर में भारतीय जनता पार्टी द्वारा पैदल यात्राएं की जा रही हैं और गांधीजी का संदेश जन-जन तक पहुंचाया जा रहा है। इसके तहत अक्तूबर माह में 10 दिन तक रोज 10 किलोमीटर पैदल यात्रा की जाएगी।उन्होंने कहा कि महात्मा गांधी ने देश को आजाद करवाने में अपना अहम योगदान दिया था। इंग्लैंड में पढ़ाई करने के बाद साउथ अफ्रिका में वकालत का काम छोडक़र तथा सूट-बूट को त्यागकर वे देश की आजादी के संघर्ष में योगदान के लिए वापस हिंदुस्तान लौटे और अहिंसा के मार्ग पर चलते हुए अंग्रेजों को घुटने टेकने पर मजबूर कर दिया।

वित्तमंत्री ने कहा कि महात्मा गांधी को अंदेशा था कि कांग्रेस के नेता सबसे बड़ी पार्टी होने और आजादी के संघर्ष में दिए गए उनके योगदान का गलत फायदा उठाएंगे। बाद में कांग्रेस पार्टी ने 60 वर्ष तक सबसे बड़ी पार्टी के नाम पर देश पर शासन किया और स्वतंत्रता संग्राम में दिए अपने योगदान को कैश किया।
वित्तमंत्री ने कहा कि नारनौंद का जो इलाका पिछली सरकारों की नाकामी और कमजोर जन-प्रतिनिधियों के चलते पिछड़ गया था, वह आज प्रदेश के विकसित हलकों से मुकाबला करने लगा है। उन्होंने कहा कि जिस नारनौंद हलके के पास अपना सरकारी कॉलेज तक नहीं था वहां आज चार-चार सरकारी कॉलेज और बच्चों को तकनीकी शिक्षा प्रदान करने के लिए चार-चार नई आईटीआई खोली गई हैं। गांव-गांव तक सडक़ों का जाल बिछाया गया है तथा पेयजल व सिंचाई सुविधाओं के लिए करोड़ों रुपये की परियोजनाएं निर्माणाधीन हैं।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *