चंडीगढ़: पीजी में लगी आग, हिसार की मुस्कान आखिरी बार फोन पर बोली- पापा! यहां बहुत आग लग गई है

Breaking अनहोनी चर्चा में बड़ी ख़बरें हरियाणा हरियाणा विशेष

Yuva Haryana, Chandigarh

चंडीगढ़ के सेक्टर-32 के एक पीजी में कल भीषण आग लग गई। जिसने तीन जिंदगियां समाप्त कर दी। वहीं इस हादसे में मृतकों की पहचान पंजाब के कपूरथला निवासी रिया, कोटकपूरा निवासी पाक्षी और हिसार निवासी मुस्कान के रूप में हुई। वहीं, घायल छात्राओं की पहचान जसमीन और फैमीना के रूप में हुई है।

आपको बता दें कि इस घटना से पहले हिसार के आदर्श नगर निवासी एडवोकेट राजीव महता की बेटी मुस्कान ने आखिरी बार अपने पापा से फोन पर बात की थी। पापा से हुई बात के हर शब्द चंडीगढ़ में हुए अग्निकांड की भयावह को बयां कर रहे थे। इसी दौरान फोन कटा और वो हो गया जिसका किसी को अंदाजा नहीं था। पीजी में भीषण आग लगी थी। मुस्कान लपटों और धुएं से घिरी हुई थी। उसने हिसार रह रहे अपने पापा फोन लगाया। वह सिर्फ इतने ही शब्द बोल पाई थी कि पापा! यहां बहुत ज्यादा आग लग गई है। उसके पीछे से तेज आवाज आ रही थी कि गीला कंबल लाओ। इतनी ही देर में फोन कट गया और कुछ देर बाद मुस्कान के इस दुनिया से चले जाने की खबर परिवार तक पहुंची। ।

युवराज ने बताया कि उनके चाचा दिनेश महता भी चंडीगढ़ में ही रहते हैं। बीकॉम करते समय मुस्कान हॉस्टल में ही रही थी। अब एमकॉम में दाखिला होने के बाद ही उसे पीजी में शिफ्ट करवाया गया था।

वहीं इस घटना में मरने वालों में कपूरथला की रिया का सपना विदेश जाने का था। लेकिन इस हादसे ने सबकुछ खत्म कर दिया। रिया चंडीगढ़ में रहकर फ्रेंच भाषा सीख रही थीं। करीब छह माह पहले ही रिया की मां कांता ने उन्हें चंडीगढ़ में दाखिला दिलवाया था। रिया के पिता संदीप कुमार का पांच साल पहले स्वर्गवास हो गया था। बड़ी बहन प्रिया अरोड़ा लंदन में रहती हैं। फ्रेंच सीखने के बाद रिया भी अपनी मां के पास प्राग जाना था। बड़े मामा राकेश कुमार ने बताया कि अगस्त 2019 को रिया का इंग्लैंड का वीजा लगा था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *