सरपंच को गांव में घुसकर मारी गोली, फायरिंग करने वाले युवक को लोगों ने पकड़कर पीटा

Breaking अनहोनी चर्चा में बड़ी ख़बरें हरियाणा हरियाणा विशेष

Pardeep Dhankar, Yuva Haryana

झज्जर में शुक्रवार की शाम गांव मुनीमपुर के सरपंच को गोली मारने का समाचार है। सरपंच सुभाष यहां रेवाड़ी रोड़ पर ही अपने कार्यालय के पास ही एक चाय की दुकान पर बैठा हुआ था। उसी दौरान ही एक आई-20 कार में सवार होकर दो युवक आए और उन्होंने दो हथियारों से तीन फायर किए। इस फायरिंग में मुनीमपुर के सरपंच सुभाष की दाहिनी आंख के पास गोली लगी है। अपने ऊपर हुए हमले के तुरन्त बाद ही सरपंच ने एक आरोपी को पकड़ लिया और बचाव में उस पर ईंट से हमला किया। इस हमले में आरोपी भी बुरी तरह से जख्मी हुआ है। फिलहाल सरपंच सुभाष की हालत खत्तरे से बाहर बताई जाती है।
पता यह भी चला है कि घटना के करीब आधा घंटेकी देरी के बाद ही पुलिस मौके पर पहुंची,तब तक राहगिरों की मदद से ही घायल सरपंच व आरोपी को उपचार के लिए अस्पताल ले जा चुकी थी। मौके पर मौजूद लोगों ने इस मामले में पुलिस पर लापरवाहीं बरतने का आरोप लगाया है। लोगों का कहना था कि समय पर सूचना दिए जाने के बाद भी न तो पुलिस ही और न ही एम्बूलैंस मौके पर पहुंची। जबकि जहां यह घटना घटी है वहां से एसपी कार्यालय थोड़ी ही दूरी पर है। हमलावरों की गोली का शिकार सरपंच सुभाष को जहां जख्मी हालत में शहर के ही एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया,वहीं आरोपी युवक अजीत पुत्र राजेश निवासी बादली को भी शहर के ही नागरिक अस्पताल में उपचार के लिए भर्ती कराया गया है। सरपंच सुभाष पर गोली चलाने वाले अन्य आरोपी कौन है और गोली चलाने के पीछे कारण क्या है इस बात की जांच झज्जर पुलिस कर रही है।
घटना की सूचना मिलने के करीब आधा घंटा बाद झज्जर सिटी व सदर पुलिस की दो टीमें न सिर्फ घटनास्थल पर पहुंची,बल्कि बाद में नागरिक अस्पताल व निजी अस्पताल भी पहुंची,जहां आरोपी व सरपंच का उपचार किया जा रहा था। उधर सरपंच सुभाष को गोली लगने की खबर जैसे ही उसके गांव पहुंची तो काफी संख्या में गांव के लोग यहां निजी अस्पताल पहुंच गए। उधर सरपंच सुभाष के ऊपर फायरिंग करने के पीछे कारण क्या रहे है इसकी पूरी जानकारी जुटाने का पुलिस प्रयास कर रही है। फिलहाल पुलिस पूरे मामले को पुरानी रंजिश से जोडक़र देख रही है। पुलिस द्वारा यह भी जानकारी जुटाने का प्रयास किया गया है कि सुभाष की किन-किन लोगों से दुश्मनी थी और क्या यह किसी गैंगवार से सम्बंधित मामला तो नहीं है।
मामले की जांच चल रही है। मामले की असली वजह क्या है इस बात का पता लगाया जा रहा है। मौके से दो हथियार,तीन गोलियों के खोल,दो जिंदा कारतूस मिले है। फिलहाल हमले का एक आरोपी अजीत पुत्र राजेश निवासी बादली पुलिस की गिरफ्त में है,जिससे पूछताछ की जा रही है। अन्य आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए तीन टीमों का गठन किया गया है। उम्मीद यहीं है कि पूरे मामले का जल्द ही पता चल जाएगा और जो लोग भी इस मामले में शामिल है उन सभी की गिरफ्तारी कर ली जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *