अब हरियाणा में ऑनलाइन किया जा सकेगा ट्रैफिक चालान के जुर्माने का भुगतान

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें सरकार-प्रशासन हरियाणा हरियाणा विशेष

Dinesh Kumar, Yuva Haryana

Faridabad, 18 August 2019 

 

हरियाणा में अब ट्रैफिक चालान के जुर्माने का भुगतान ऑनलाइन किया जा सकेगा। इसके लिए अब कोर्ट में जाने की जरूरत नहीं होगी। पंजाब एंड हरियाणा उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश न्यायमूर्ति कृष्ण मुरारी ने वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से न्यायालय में मुकदमों की उपस्थिति को समाप्त करने व पूरे हरियाणा के ट्रैफिक चालान के मामलों को ऑनलाइन निपटाने के लिए फरीदाबाद में पहला वर्चुअल कोर्ट की शुरुआत की।

 

यह वर्चुअल कोर्ट पूरे हरियाणा के ट्रैफिक चालान के मामलों का निपटारा करेगी। यह परियोजना भारत के सर्वोच्च न्यायालय की समिति के मार्गदर्शन में शुरू की गई है। जिला एवं सत्र न्यायाधीश ने बताया कि इस परियोजना के तहत वर्चुअल कोर्ट में प्राप्त मामलों को स्क्रीन पर जुर्माने की स्वचालित गणना के साथ न्यायाधीश द्वारा देखा जा सकता है। इसके लिए प्रियंका जैन जुडिशल मजिस्ट्रेट प्रथम श्रेणी की अदालत को वर्चुअल कोर्ट का दर्जा दिया गया है।

 

एक बार समन सरजीत होने और आरोपी को ईमेल या एसएमएस पर जानकारी मिल जाने के बाद आरोपी वर्चुअल कोर्ट की वेबसाइट पर जाकर और संबंधित मामलों का सी एनआर नंबर या अभियुक्त का नाम गाड़ी का नंबर या ड्राइविंग लाइसेंस का नंबर मोबाइल का नंबर इत्यादि देकर अपना केस सर्च कर सकते हैं।

 

यदि आरोपी अपने गिल्ट को कन्फेस करना चाहता है तो क्लिक करके प्रदर्शित जुर्माना राशि डेबिट कार्ड क्रेडिट कार्ड या नेट बैंकिंग से ओटीपी लेकर जमा कर सकता है। वहीं प्रियंका जैन ने बताया कि यदि अभियुक्त अपने को दोषी नहीं मानता है। तो ऐसे मामलों को संबंधित में अन्य को भेज दिया जाएगा।

 

इस प्रकार वर्चुअल कोटद्वारा नियमित अदालतों पर बोझ कम करेगा चालान भुगतने की पूरी प्रक्रिया घंटों में ऑनलाइन घर बैठे कर सकेंगे। लोगों का अदालत में आना काफी हद तक कम हो जाएगा। यदि कोई व्यक्ति वेबसाइट पर जाकर जुर्माने की प्रदर्शित राशि देखकर अपना चालान ऑनलाइन नहीं जमा कर पाता है तो उस सूरत में वह चालान अदालत में भेज दिया जाएगा और उस व्यक्ति को चलान अदालत में जाकर भुगतना होगा। लोग ऑनलाइन भी अपने चालान का भुगतान कर सकेंगे।

 

पोर्टल पुलिस की ऑनलाइन सिस्टम से जुड़ा रहेगा ऐसा भी नहीं है कि लोग ऑनलाइन ही चालान भुगत सकेंगे लोग अदालत में आकर भी चालान भुगत सकते हैं ।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *