तय वक्त में पूरा नहीं होगा करनाल का बाइपास, जीटी रोड से कैथल रोड जाना होगा आसान

Breaking बड़ी ख़बरें हरियाणा

Yuva Haryana

Karnal (27 March 2018)

पश्चिमी बाईपास को पूरा करने के लिए लोक निर्माण विभाग ने 31 मार्च की समय सीमा को निर्धारित किया था। जबकि अभी तक केवल 75 प्रतिशत काम ही पूरा हुआ है।  इस बारे में संबंधित अधिकारियों का कहना है कि अभी भी एक महीने और लग सकता है।

विभाग इस देरी का मुख्य कारण राम नगर की शिवपुरी समिति द्वारा अतिक्रमण ना हटाने और जमीन ना देने को मान रहा है। वहीं मुख्यमंत्री ने इससे संबंधित अधिकारियों को बाईपास के दोनों पक्षों को पेड़ और फुल, लाइट, और दुर्घटना रोकने और यात्रियों की सुरक्षा के लिए पश्चिमी यमुना नहर के साथ दीवार बनाने का निर्देश दिया था। लेकिन यह काम भी अभी पूरा नहीं हुआ है।

वहीं सिंचाई विभाग ने पीडब्ल्यूडी से अनुरोध किया है कि वे गाद निकालने के काम को जल्द से जल्द पुरा करे, जिससे पश्चिमी यमुना नहर के के आस-पास दिवार बनाई जा सके। जिसके बाद सिंचाई विभाग ने अप्रैल के अंत तक काम पूरा करने का आश्वासन दिया है जिसके बाद पीडब्लूडी भी 30 अप्रैल तक परियोजना को पूरा कर लेगा।

बता दें कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने 8 फरवरी, 2016 को 6.5 किलोमीटर लंबी और 10 मीटर चौड़ी पश्चिमी बाईपास की नींव रखी थी। बाईपास का निर्माण 57.09 करोड़ रूपए की लागत से किया जा रहा है और कैथल रोड और एनएच -44 वाहनों की भीड़ को कम करने के लिए इसका निर्माण किया जा रहा है। जिसके बाद शहर का आधे से ज्यादा वाहनों की भीड़ कम हो जाएगी।

लेकिन जुलाई 2016 में शुरू हुआ यह काम तब से ही सुर्खियों में छाई हुई है जब अधिकारियों ने पर्यावरण मंत्रालय, वन और जलवायु परिवर्तन से बिना अनुमति के पेड़ों को काटने का काम शुरू कर दिया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *