घरौंडा के दो दर्जन गांवों में बाढ़ का खतरा मंडराया, रात को भी पहरेदारी कर रहे हैं ग्रामीण

Breaking Uncategorized चर्चा में बड़ी ख़बरें सरकार-प्रशासन हरियाणा

Vivek Rana, Yuva Haryana
Ghrounda, 30 July, 2018

यमुना में निरंतर छोड़े जा रहे पानी से प्रदेश के कई जिलो में यमुना तट से लगते गांवो में बाढ़ के हालत उत्पन्न हो गए है।  यमुनानगर और इंद्री के बाद घरौंडा इलाके के दो दर्जन गांवो पर बाढ़ का खतरा मंडरा रहा है। यमुना से भयभीत ग्रामीण दिन रात जागकर गांवो में पहरेदारी कर रहे हैं।

नदी में पानी के उफान को देखते हुए प्रशासन ने इलाके में अलर्ट जारी किया है। देर रात करीब एक बजे गाँव बल्हेडा के पास यमुना का तटबंध टूट गया और नदी के पानी का रुख गांव की तरफ हो गया । तटबंध टूटने की सुचना मिलते ही गांव में हडकम्प मच गया।

सरपंच प्रतिनिधि कौसर अली ने तुरंत तटबंध टूटने की सुचना प्रशासन को दी और ग्रामीणों के साथ मिलकर तटबंध में आई दरार को पाटने का काम शुरू कर दिया,  नदी का पानी तेज बहाव के साथ खेतो में घुस गया और गांव के बाहर बनी सैंकड़ों झोपड़ियों तक पहुंच गया।

बाढ़ के खतरे के भांपते हुए ग्रामीणों ने झोपड़ियो को खाली कर दिया और सुरक्षित स्थानों पर चले गए . तटबंध टूटने की सुचना पर हरकत में सिंचाई विभाग के अधिकारी दलबल के साथ मौके पर पहुंचे और जेसीबी मशीनों के जरिये तेजी के साथ मुरम्मत का काम शुरू किया ।

कई घंटो के प्रयासों के बाद तटबंध में आई दरार की मुरम्मत हुई जिससे बल्हेडा गाँव पर बना खतरा टल गया . हालाँकि यमुना में छोड़े गए पानी से अब तक नदी के अंदर व बाहर सैकड़ो एकड़ फसल बाढ़ के कारण बर्बाद हो चुकी है ।

नदी में पानी के जलस्तर को देखते हुए गांवो में बाढ़ की आशंका निरंतर बनी हुई है . सिंचाई विभाग के एक्सईन मनीष शर्मा से मिली जानकारी के अनुसार प्रदेश सरकार के मंत्री , विभाग के आला अधिकारी लगातार बाढ़ की स्थिति पर नजर रखे हुए है । पल पल की सूचनाये आदान प्रदान की जा रही है और उसके मुताबिक यमुना तट से सटे गांवो में कार्य भी किये जा रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *