पूर्व राज्यपाल विष्णु सदाशिव कोकजे बने विहिप के राष्ट्रीय अध्यक्ष, तोगड़िया हुए बाहर

Breaking देश बड़ी ख़बरें हरियाणा

Yuva Haryana

Gurugram (15 April 2018)

काफी दिनों से विश्व हिदू परिषद के कद्दावर नेता प्रवीण तोगडिय़ा की तीखी जुबान ने आखिरकार उन्हें विहिप से बेदखल कर ही दिया। अब उनकी जगह पूर्व राज्यपाल विष्णु सदाशिव कोकजे को विहिप को अध्यक्ष चुना गया है।

शनिवार को गुरुग्राम में हुए संघ के चुनाव में तोगडिय़ा गुट के राघव रेड्डी अंदरूनी कलह के चलते चुनाव में अपने प्रतिद्वंदी और पूर्व राज्यपाल विष्णु सदाशिव कोकजे से वोटो के लंबे अंतर से हार गए।

माना जा रहा है कि तोगडिय़ा नरेंद्र मोदी के खिलाफ लगातार विरोधी स्वर अपना रहे थे इसी का खामियाजा उन्हें इस चुनाव में देखने को मिला। पूर्व राज्यपाल विष्णु सदाशिव कोकजे पीएम मोदी के बेहद करीबी माने जाते हैं। विश्वहिंदू परिषद शुरूआत से ही हिंदु सुरक्षा के मुद्दे उठाता आया है। भारतीय जनता पार्टी को भी फर्स से अर्श तक पहुंचाने में विहिप का खासा योगदान रहा है।

जब जब भारतीय जनता पार्टी को विपक्षियों की कोई बात अटकने लगती है तब विहिप के नेता कोई शिगुफा छोडक़र मुद्दा भटका देते है। उनमें से प्रवीण तोगडिय़ा सबसे खास नेता रहे हैं। अब कुछ दिनों से प्रवीण तोगडिय़ा और भाजपा के शीर्ष नेतृत्व में खुलेआम जुबानी जंग चलने लगी थी। तोगडिय़ा ने बीजेपी को हिंदू विरोधी करार दे दिया था। आगामी चुनाव के मद्देनज़र तोगडिय़ा भाजपा को तगड़ा झटका दे सकते थे। जिसके चलते शायद तोगड़िया को बाहर का रास्ता दिखा दिया गया।

विश्व हिंदू परिषद का चुनाव शनिवार को हुआ जिसमें हिमाचल प्रदेश के राज्यपाल रहे सेवानिवृत न्यायमूर्ति विष्णु सदाशिव कोकजे को राष्ट्रीय अध्यक्ष चुना गया। चुनाव में वैसे तो 273 सदस्यों द्वारा वोट डाले जाने थे। लेकिन दिल्ली में प्रवीण तोगडिय़ा समर्थकों और विरोधियों के बीच हुई झड़प के बाद यहां काफी वोट नहीं डाले जा सके।

गुरुग्राम में हुए विहिप के चुनाव में विष्णु सदाशिव कोकजे को 131 वोट मिले, जबकि तोगडिय़ा के करीबी राघव रेड्डी को 60 वोट ही मिले। इस तरह से 69 वोटों से कोकजे जीत हासिल करके विश्व हिंदू परिषद के अंतरराष्ट्रीय अध्यक्ष बन गए।

विश्व हिंदू परिषद के नवनिर्वाचित अध्यक्ष मूलरूप से मध्यप्रदेश के रहने वाले हैं। 6 सितंबर 1939 को उनका जन्म हुआ। इंदौर से उन्होंने एलएलबी की। वर्ष 1964 में उन्होंने लॉ की प्रेक्टिस शुरू की। वे मध्यप्रदेश उच्च न्यायालय में 1990 में जज बने।

वर्ष 2001 में वे 11 महीने तक राजस्थान हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस रहे। वहीं सेवानिवृति के बाद 8 मई 2003 में उन्हें हिमाचल प्रदेश का राज्यपाल नियुक्त किया गया था। वे विश्व हिंदू परिषद के अंतरराष्ट्रीय अध्यक्ष भी रह चुके हैं।

यह भी पढ़े-

इन दिव्यांग खिलाड़ियों के हौंसले को सलाम, कर दिखाया इन्होने अनोखा काम

1 thought on “पूर्व राज्यपाल विष्णु सदाशिव कोकजे बने विहिप के राष्ट्रीय अध्यक्ष, तोगड़िया हुए बाहर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *