फर्जी हस्ताक्षर और अंगूठा लगवाकर कब्जाई जमीन, एक्सईएन और नंबरदार समेत 6 पर केस दर्ज

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें सरकार-प्रशासन हरियाणा हरियाणा विशेष

Yuva Haryana,

Bhiwani, 18 Feb,2019

तहसील में किसी अन्य महिला को खड़ा कर फर्जी हस्ताक्षर व अंगूठे के निशान लगवाकर एक कनाल 12 मरले जमीन हड़पने का मामला सामने आया है।

मामले में पुलिस ने एक्सईएन, नंबरदार, तत्कालीन सब रजिस्ट्रार और हल्का पटवारी समेत छह लोगों के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

पुलिस को दी शिकायत में हाउसिंग बोर्ड निवासी पीड़िता प्रियंका ने बताया कि उसके पति राहुल की भिवानी के लोहड़ क्षेत्र में एक कनाल 12 मरले जमीन है। उसके पति ने अपनी उपरोक्त जमीन के लिए उसे मुख्तारे आम नियुक्त किया गया है। इस बारे में 22 दिसंबर 2016 को मुख्तारनामा आम नंबरी 405 को रजिस्टर्ड करवाया था।

शिकायत में प्रियंका ने बताया कि वह समय-समय पर प्लाट को संभालने के लिए जाती थी। कुछ दिन पहले जब वह प्लाट को संभालने के लिए गई, तो किसी ने बताया कि उनका यह प्लाट बिक चुका है। जब उसने इस मामले में छानबीन की तो पता चला कि जनस्वास्थ्य विभाग के एक्सईएन होशियार सिंह ने पटवारी से मिलीभगत करके उसका प्लाट बेच दिया है।

साजिश के तहत आरोपियों ने उसके स्थान पर किसी अन्य महिला को तहसील कार्यालय में ले जाकर उसके फर्जी हस्ताक्षर व अंगूठे के निशान लगवाकर जमीन को गैर कानूनी रूप से होशियार सिंह के हक में बिक्री करवा दिया।

इस मामले में 13 नवंबर 2018 को सरबरा नंबरदार प्रवीण कुमार व राजीव कॉलोनी निवासी करण सिंह नामक व्यक्ति ने महिला की शिनाख्त भी कर रखी है। आरोपी तत्कालीन सब रजिस्ट्रार तहसीलदार कार्यालय ने फर्जी बयाना की छानबीन किए बिना ही रजिस्टर्ड कर दिया और फिर फर्जी बयाना के आधार पर पर हलका पटवारी ने रिकार्ड कागजात इंतकाल भी दर्ज कर दिया। जबकि उस बयाना में उसके हस्ताक्षर व अंगूठे के निशान नहीं है।

शिकायत में महिला ने आरोप लगाया कि आरोपियों ने साजिश के तहत उसके पति की जमीन हड़प की है। महिला ने मामले की शिकायत एसपी को दी। पुलिस ने पीड़िता प्रियंका की शिकायत पर होशियार सिंह एक्सईएन, सरबरा नंबरदार प्रवीण कुमार, राजीव कॉलोनी निवासी करन सिंह, तत्कालीन सब रजिस्ट्रार तहसीलदार कार्यालय भिवानी, हल्का पटवारी सहित 6 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *