डी ग्रुप भर्ती की परीक्षा में पास करवाने के नाम पर 26 युवाओं से ठगे 52 लाख रुपए

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें हरियाणा हरियाणा विशेष

Yuva Haryana

Bhiwani, 3 March, 2019

हरियाणा में पिछले दिनों हुई ग्रुप डी की भर्ती की परीक्षा में पास करवाने के लिए 52 लाख रुपए की ठगी का मामला सामने आया है। परीक्षा में पास कराने के नाम पर हिसार और रोहतक के 26 बेरोजगार युवकों से 52 लाख रुपये ठगे गए है। भर्ती परीक्षा में पास न होने पर पीडि़तों ने पुलिस से शिकायत की, जिसके बाद पुलिस ने आरोपी  करण खिलाफ ठगी का मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

जानकारी मुताबिक, हिसार के विवेक विहार निवासी विष्णु ने इस संबंध में भिवानी के पुलिस अधीक्षक से शिकायत की थी। शिकायत में बताया कि रेलवे में नौकरी करने वाले उसके जानकार विक्रम त्यागी ने भिवानी में कोंट रोड पर वाटर पार्क चलाने वाले स्थानीय बैंक कालोनी निवासी करण श्योराण से मुलाकात कराई।

आरोप है कि करण ने ग्रुप डी परीक्षा की उत्तर कुंजी अपने पास होने का दावा किया और पास कराने के नाम पर हर युवक से पांच लाख रुपये मांगे। करण ने कहा कि दो लाख रुपये पहले देने होंगे और परीक्षा पास होने पर नौकरी लगने के बाद तीन लाख रुपये देने होंगे।

विष्णु ने शिकायत में बताया कि उसने रोहतक व हिसार में रहने वाले अपने जानकार और रिश्तेदारों के 26 बेरोजगार युवकों के दो-दो लाख रुपये यानि 52 लाख रुपये विक्रम की मौजूदगी में करण श्योराण को दिए। साथ ही सभी 26 युवकों के रोल नंबर उन्हें दिए गए। आरोपित ने कहा कि पेपर की उत्तर कुंजी लीक करके तुम्हें परीक्षा में पास कराया जाएगा।

विष्णु ने बताया कि प्रत्येक उम्मीदवार को करण ने  एक-एक वीडियो भी दी थी, जिसमें हर पेपर के सवाल का जवाब था। लेकिन फिर भी उम्मीदवार डी ग्रुप परीक्षा में पास नहीं हुए। इसके बाद जब युवको ने पैसे वापस देने की बात कही तो करण ने पैसे देने से मना कर दिया।

वहीं शिकायतकर्ता ने रकम देने से लेकर परीक्षा पास कराने व नौकरी लगवाने की पूरी डील की बातचीत को रिकॉर्ड किया हुआ है। यह रिकॉर्डिंग पुलिस को सौंपी गई। इसकी जांच करने के बाद ही पुलिस ने आरोपित के खिलाफ केस दर्ज किया गया है।

इस केस में फंसे आरोपित करण श्योराण कहना है कि उसने नौकरी लगवाने या फिर परीक्षा पास करवाने के नाम पर किसी से कोई ठगी नहीं की है। उसने बताया कि विक्रम त्यागी से उसने एक करोड़ 20 लाख रुपये फाइनेंस पर वाटर पार्क चलाने के लिए उधार लिए थे। मेरे खिलाफ झूठा केस दर्ज करवाया गया है। पुलिस ने आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है और जल्द ही उसको गिरफ्तार करेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *