सर्व हरियाणा ग्रामीण बैंक को लाखों की चपत, फर्जी एनओसी से बेच डाले प्लॉट

Breaking बड़ी ख़बरें हरियाणा

कुछ लोगों ने फर्जी प्रमाणपत्र (एनओसी) से हाउसिंग बोर्ड में ड्रा से निकले प्लॉट बेच दिए है। इससे सर्व हरियाणा ग्रामीण बैंक को 28.45 लाख की चपत लगी है। बैंक प्रबंधक की शिकायत पर पुलिस ने इस मामले में महिला सहित 6 लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया है।

बता दें कि कैथल ग्रामीण बैंक के प्रबंधक अनिल सखुजा ने पुलिस को दी शिकायत में बताया कि साल 2013 में हाउसिंग बोर्ड के प्लॉट के लिए लोगों ने आवेदन किया था। कुछ समय बाद इसका परिणाम आ गया। जींद की डिफेंस कॉलोनी जींद निवासी धर्मबीर, नसीब सिंह, दीपक कुमार, सुभाष, नीलम और शिव कॉलोनी जींद निवासी रोहताश के प्लॉट हिसार में निकले थे। प्लॉट 10 और 14 मरले के थे। इन प्लॉटों की कीमत का 10 फीसदी बैंक ने भर दिया था।

अभियुक्तों को ब्याज सहित राशि बैंक को किश्तों में देनी थी, लेकिन उन्होंने पैसा बैंक में जमा कराने की बजाय फर्जी एनओसी तैयार कर हुडा विभाग को दे दी। हुडा विभाग ने एनओसी लेने के बाद जब बैंक से इस बारे में जानकारी मांगी तो मामला सामने आया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *