नेपाल से सेना में भर्ती होने हरियाणा पहुंचे ये आवेदक, लेकिन बाद में हुआ ये बड़ा खुलासा

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें हरियाणा हरियाणा विशेष

Yuva Haryana

Ambala, 4,Feb, 2019

भारतीय सेना में नौकरी लगवाने का सपना दिखाकर युवकों से लोखों रुपए  ठगने का मामला सामने आया है। मामला अंबाला का है, जहां कुछ युवकों को नेपाल से अंबाला सेना हेडक्वार्टर में फर्जी ज्वाइनिंग लेटर देकर भेजा गया।

फर्जीवाड़े का खुलासा तब हुआ जब पांच-छह युवक नेपाल से ज्वाइनिंग लेटर लेकर अंबाला पहुंचे और अधिकारियों को ज्वाइनिंग दिखाने पर भी उन्हें वापिस भेज दिया गया। युवकों की शिकायत पर पुलिस ने एक व्यक्ति के खिलाफ 12 लाख रुपए ठगने का मामला दर्ज किया है।

नेपाल के गांव धरमावती पांचताइरे के रहने वाले शिकायकर्ता पदम भंडारी ने बताया कि उसने 10वीं कक्षा पास की हुई है और वह नेपाल में निजी बस चलाता है। पदम ने बताया कि नारंग थापा जो की नेपाल का ही रहने वाला है, अक्सर उसके गांव में आता जाता रहता था, उसने ही उसे भारतीय सेना की भर्ती के बारे बताया था।

उसने पदम को बताया कि उसका एक दोस्त देहरादून के गांव कुलागढ़ में कृष्ण बहादुर थापा उर्फ केबी थापा भारतीय सेना में कर्नल है। उसने पदम को और अन्य लड़कों को सेना में नौकरी दिलवाने का वायदा किया।

नारंग ने शिकायतकर्ता को अपनी बातो में फंसाते हुए कहा कि वह पहले भी कई लड़कों को नौकरी लगवा चुका है। पदम भंडारी अपने साथ दो लड़कों प्रकाश शर्मा, अशीष मगर को लेकर ढाई महीने पहले अंबाला कैंट पहुंच गया था। अंबाला में नारंग थापा ने केबी थापा से उनकी मुलाकात करवाई थी। जहां केबी थापा ने खुद को कर्नल बताया और नौकरी लगवाने के नाम पर प्रति युवक ढाई लाख रुपये की मांग की।

पैसे लेने के बाद नारंग और केपी ने युवकों को होटल में रुकने के लिए बोला और उन्हें अंग्रेजी में लिखित लेटर दिया। जिसमें 14 गोरखा रेजीमेंट में ट्रेनिंग के बारे में लिखा गया था। नौकरी का पूछने पर दोनों कोई ना कोई बहाना बनाते थे।

होटल में ही उनकी मुलाकात नेपाल के ही रहने वाले संजू खनल, रोबिन गिरी, निर्मल पौखरैल से हुई, जिनसें पता चला कि उनसे भी नौकरी के लिए रुपए लिए गए हैं। शक पड़ने पर उन्होंने नारंग और केबी से पैसे मांगे, तो उन्होंने पैसै देने से मना कर दिया। जिसके बाद युवकों ने पुलिस में शिकायत दर्ज करवाई।

 

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *