रेलवे में भर्ती कराने का देते थे लालच, 70 लाख का किया फर्जीवाड़ा, 5 साल से चल रहा था ये सिलसिला

अनहोनी चर्चा में बड़ी ख़बरें युवा रोजगार हरियाणा हरियाणा विशेष

Yuva Haryana

Yamuna Nagar 29 march, 2018

यमुनानगर के गांव सादिकपुर में पूर्व सरपंच के बेटे से रेलवे में भर्ती के नाम पर पांच साल से ठगी हो रही थी।

भूपेंद्र ने बताया कि उससे पांच साल में करीब 70 लाख रुपये हड़पे गए।

2012 में रविकांत साहनी और अनिल बख्शी उसके संपर्क में आए थे। जिन्होंने रेलवे में बैठे उच्चाधिकारियों से जान पहचान के बल पर नौकरी दिलाने की बात कही थी।

उन दिनों उसके भाई कर्मवीर और धर्मवीर ने रेलवे में भर्ती के लिए आवेदन किया हुआ था।

रविकांत साहनी और अनिल बख्शी की बातों पर विश्वास करके कर्मवीर और धर्मवीर ने रेलवे में भर्ती के लिए भूपेंद्र को जमानती बनाते हुए उन दोनों को तीन लाख दे दिए।

वहीं अपने दोस्त हरपाल को विदेश भेजने के लिए रविकांत और अनिल को दो लाख रुपए दिए।

पांच लाख रुपए लेकर दोनों छह महीने तक फरार हो गए थे। उसने दोनों को तलाशा तो वे कहने लगे कि वे एंटिक प्रोजेक्ट पर काम कर रहे हैं।

भूपेंद्र ने बताया कि आरोपी उसे पेमेंट देने के लिए मुंबई भी ले गए। वहां उसे एक हवाला कंपनी की रसीद देकर उसकी रकम घर पहुंच जाने का झांसा दिया।

एक दिन उसके पास अंतरराष्ट्रीय मोबाइल नंबर से फोन आया और फोन करने वाली मैडम ने कहा कि उनका पार्सल था, लेकिन उन्होंने उसे नहीं लिया  इसलिए वो वापस हो गया।

इस तरह की धोखाधड़ी पांच साल तक चलती रही। लेकिन भूपेंद्र को समझ आ गाया है कि उसके साथ धोकाधड़ी हुई है।

आरोपियों के खिलाफ उसने मामला दर्ज करवा दिया है और पुलिस अब जांच में जुट गई है।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *