नकली सोने से SBI बैंक और किसानों को लगभग 73 लाख का चुना लगा गया बैंक के पैनल का जौहरी

Breaking अनहोनी चर्चा में बड़ी ख़बरें हरियाणा हरियाणा विशेष

Yuva Haryana

Kaithal, 13 Oct, 2018

कैथल के कस्बा ढांड का नटवर लाल स्टेट बैंक ऑफ इंडिया व किसानों को चुना लगाकर फरार हो गया । इस नटवर लाल ने बैंक का जौहरी होने का फायदा उठाकर किसानों का कर्जा उतारने के लिए अपना नकली सोना बैंक में रखकर किसानों का लोन करवा दिया और लोन का पैसा भी खुद लेकर रफू चक्कर हो गया ।

अब बैंक अपने ही आरोपी जौहरी विजय सिंगला के सर्टिफिकेट पर रखे 18 किसानों के 73 लाख रुपए के सोने को तीन साल बाद नकली बता रहा है।

पुलिस में दी शिकायत में बैंक मैनेजर ने आरोप लगाया है कि जौहरी ने किसानों से मिलीभगत कर नकली सोने पर धोखे से 73 लाख का कृषि गोल्ड लोन लिया है। शिकायत के बाद डर के मारे 18 में से दो किसानों ने लोन भर दिया।

दो किसानों को इसी जौहरी ने नकली सोने पर बैंक से मिली भगत करके एक किसान को तीन बार और एक किसान को दो बार लोन दिलवाया, लेकिन मामला तब खुला जब पहले बैंक मैनेजर की बदली हो गई और दूसरे मैनेजर ने सोने को दूसरे जोहरियों से चेक करवा लिया।

वंही जौहरी पूरे मामले को बैंक का षडयंत्र बताते- बताते फरार हो गया। एसबीआई ढांड शाखा मुख्य प्रबंधक रमेश कुमार सचदेवा ने अपनी पुलिस शिकायत में बताया कि उसने 25 मई 2018 को ढांड शाखा में ज्वाइन किया था।

सोने पर शक होने पर बैंक के पैनल के दूसरे ज्वेलर्स राजकुमार से बैंक में गिरवी रखे सोने को चेक करवाया, तो सोने के सारे आभूषण नकली निकले । लोन देने से पहले सोने की जांच आरोपी ज्वेलर्स विजय सिंगला से ही करवाई थी। बैंक के नियम अनुसार उसने शुद्धता का भी मापन किया और उसके प्रमाण- पत्र पर ही बैंक लोन ने किया था ।

उनके जांच प्रमाण पत्र से 18 उपभोक्ताओं के बैंक में गिरवी रखे जेवर नकली मिले। वंही किसान राजेन्द्र का कहना है की उनका इस सोने से कोई लेना देना नहीं हैं। आरोपी विजय सिंगला ने उनके पैसे देने थे और उसके ही नकली सोने को किसानों के हाथों बैंक कर्मचारियों से मिलकर लोन करवाकर सारे पैसे खुद ही लेकर फरार हो गया ।

वहीं जब इस विषय पर लीड बैंक मैनेजर से बातचीत की, तो उन्होंने कहा की मामले की गहनता से जांच कर रहे हैं। जो भी दोषी पाया जायेगा उसके खिलाफ कारवाई की जाएगी ।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *