हरियाणा में छात्रा परिवहन सुरक्षा योजना की तैयारी, हर बस में होंगी महिला कॉन्स्टेबल

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें सरकार-प्रशासन हरियाणा हरियाणा विशेष
  • ‘छात्रा परिवहन सुरक्षा योजना’ के अन्तर्गत राज्य के पांच जिले नामत

  • अम्बाला, पंचकूला, यमुनानगर, करनाल और कुरुक्षेत्र में पायलट परियोजना

  • पायलट आधार पर ‘महिला स्पेशल बस’ चलाई जाएगी

Sahab Ram, Yuva Haryana
Chandigarh, 06 Dec, 2019

हरियाणा में छात्राओं को बस सुविधा देने के लिए सरकार ने पायलट प्रोजेक्ट की तैयारी कर ली है। इसके पहले प्रोजेक्ट में पांच जिलों को नामित किया गया है। इन पांच जिलों में अंबाला, पंचकूला, यमुनानगर, करना और कुरुक्षेत्र को शामिल किया गया है. वहीं छात्रा परिवहन सुरक्षा योजना इसका नाम दिया गया है और छात्राओं के लिए महिला स्पेशल बस चलाने की तैयारी है।

हरियाणा में सरकारी कॉलेजों में पढ़ने वाली छात्राओं को सौगात, 181 बसें लगाने की तैयारी

मुख्यमंत्री छात्रा परिवहन सुरक्षा योजना से सम्बन्धित किए गये कार्यों की समीक्षा बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे। बैठक में शिक्षा विभाग और परिवहन विभाग के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे। बैठक में मुख्यमंत्री ने कहा कि यह महिला स्पेशल बस छात्राओं की सुरक्षा को देखते हुए शुरू की जा रही है। उन्होंने बताया कि ऐसी हर बस में पुलिस की महिला कॉस्टेबल भी तैनात रहेंगी, ताकि असामाजिक तत्वों पर निगरानी रखी जा सके।

उन्होंने कहा कि शुरूआत में छात्राओं को लाने व ले जाने के लिए उच्च शिक्षा के कुछ शिक्षण संस्थानों को शामिल किया जाएगा और बाद में इस योजना के अन्तर्गत अन्य शिक्षण संस्थानों को भी शामिल किया जाएगा। मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि वे बसों के रूटों को इस प्रकार से तैयार करें कि समय और बसों का सदुपयोग किया जा सके।

हरियाणा में कॉलेज छात्राओं को फ्री बस सुविधा देने की तैयारी, खाका तैयार करने में जुटा विभाग

मुख्यमंत्री ने शिक्षा विभाग के अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि वे हर जिले में रूट तैयार करते समय प्रत्येक जिला के एक वरिष्ठ अधिकारी को नोडल अधिकारी के रूप में मनोनीत करें ताकि वे परिवहन विभाग के अधिकारियों के साथ बैठकर सही और बेहतर रूट तैयार कर सकें।

उन्होंने कहा कि जहां कहीं बड़ी बसों की जरूरत नहीं है, वहां पर छोटे वाहनों का उपयोग करके छात्राओं को सुविधा मुहैया करवाई जाए।
उन्होंने अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि इस योजना के विस्तार के लिए सभी सम्बन्धित अधिकारी आपस में तालमेल रखें और योजना को सफल करने के लिए विचार-विमर्श करें ताकि राज्य की छात्राओं को शिक्षा ग्रहण करने में किसी प्रकार की कोई दिक्कत न हो।

गीता जयंती मेले के लिए चलेगी 128 बसें, 50 फीसदी मिलेगी किराये में छूट

बैठक के दौरान मुख्यमंत्री को बताया गया कि इस योजना के अन्तर्गत फिलहाल कॉलेज और विश्वविद्यालय की छात्राओं को शामिल किया जा रहा है, लेकिन बाद में अन्य उच्च शैक्षणिक संस्थानों की छात्राओं को भी शामिल किया जाएगा।

बैठक के दौरान परिवहन विभाग और शिक्षा विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों ने अपने-अपने विभागों के सम्बन्ध में इस योजना से सम्बन्धित कार्य प्रगति की जानकारी दी, जिस पर मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को विभिन्न दिशानिर्देश दिए।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *