फ्यूचर मेकर के मालिक दस साल पहले सीलता था कपड़े, अब हजारों करोड़ का खड़ा किया स्रामाज्य

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें हरियाणा हरियाणा विशेष

Yuva Haryana News

हिसार के राधे श्याम की चर्चा इन दिनों पूरे हरियाणा ही नहीं देश के अलग-अलग कोनों में छाई हुई है। राधेश्याम वो शख्स है जो करीब दस साल पहले दर्जी का काम करता था और लोगों के कपड़े सिलता था, लेकिन आज फ्यूचर मेकर कंपनी के जरिये हजारों करोड़ रुपये का स्रामाज्य खड़ा कर दिया।

दरअसल तेलंगाना पुलिस ने राधेश्याम की कंपनी फ्यूचर मेकर के दफ्तरों को सील कर दिया है। कंपनी पर लाखों ग्राहकों के साथ धोखाधड़ी करने का आरोप है। राधेश्याम और कंपनी के प्रमोटर अब भूमिगत हो गए हैं।

राधेश्याम की कामयाबी की कहानी भी किसी फिल्मी कहानी से कम नहीं है। फ्यूचर मेकर कंपनी के मालिक राधेश्याम हिसार के सीसवाल गांव के रहने वाले हैं। उन्होने करीब दस साल पहले दर्जी के काम से अपना जीवन का कामकाज शुरु किया था, उसके कुछ समय बाद जब प्रॉपर्टी में बूम आया तो प्रॉपर्टी के काम में जुट गए और हिसार में अपना दफ्तर खोल लिया। यहां पर राधेश्याम ने अच्छे पैसे कमाए लेकिन जब प्रॉपर्टी का बाजार कुछ ठंडा पड़ा तो राधेश्याम मोटिवेटर बन गया।

राधेश्याम ने आरसीएम जैसी कंपनियों में एज के मोटिवेटर के तौर पर काम किया और एक बैठक में मोटिवेटर के तौर पर दस हजार से लेकर 15 हजार रुपये तक की फीस लेता था, लेकिन इन कंपनियों में मुनाफे को देखकर राधेश्याम ने भी अपनी कंपनी बनाने की ठानी।

करीब तीन साल पहले राधेश्याम ने अपनी कंपनी फ्यूचर मेकर लिमिटेड के नाम से बनाई। इस कंपनी में उन्होने चिटफंड के नाम पर लोगों को पैसे डबल से दस गुणा तक करने का वादा करके निवेशकों को अपनी तरफ लुभाया।

बताते हैं कि हरियाणा में भी काफी संख्या में लोगों ने फ्यूचर मेकर कंपनी में अपने पैसे इनवेस्ट किये थे। यहां तक कि कुछ लोगों ने अपनी जमीन गिरवी रखकर और कुछ लोगों ने अपनी पत्नी के गहने बेचकर कंपनी में पैसे लगाए थे, लेकिन अब वो पैसे उनको डूबते हुए नजर आ रहे हैं।

फ्यूचर मेकर कंपनी को लेकर पिछले कुछ दिनों से अफवाहों का बाजार गर्म था. इस कंपनी के इन्ही दिनों में जैसे जैसे निवेशक बढ़ रहे थे, उसी हिसाब से बाजार में माहौल गर्म होता जा रहा था, और आखिरकार तेलंगाना पुलिस ने अब फ्यूचर मेकर कंपनी के दफ्तरों को धोखाधड़ी के आरोप में सील कर दिया है और मामला दर्ज कर कंपनी के प्रमोटर्स की तलाश कर रही है।

कंपनी ने अलग-अलग तरीके से लोगों को पैसे डबल से कई गुना करने के वायदे किये थे. कंपनी की तरफ से 7500 रुपये में मेंबरशिप मिलती थी और इस दौरान मेंबर्स को दो शूट और अन्य सामान व बाकी के पैसे खाते में जमा किये जाते थे. इसके बाद चैन सिस्टम के जरिये आगे से आगे जोड़ने का काम शुरु होता था।

कंपनी के प्रमोटर्स भी नये जुड़ने वाले लोगों के साथ जाते थे और उन्हे भी इस कंपनी में जुड़ने के लिए प्रोत्साहित करते थे. बताते हैं कि पुराने जुड़े हुए लोगों ने तो अपने लगाए हुए पैसे डबल कर लिये लेकिन जो नये जुड़े थे उनके पैसे डूबते हुए दिखाई दे रहे हैं।

इस कंपनी के हरियाणा समेत दस राज्यों में लाखों ग्राहक हैं जिनके पैसे अब डूबते नजर आ रहे हैं। कंपनी के मालिक भूमिगत है तो वहीं घर पर जब टीम ने छापेमारी की तो राधेश्याम के सीसवाल स्थित घर में कुछ भी नहीं मिला जिसके बाद टीम वहां से चली गई, लेकिन हिसार के रेड स्क्वायर मार्केट में स्थित दफ्तर अभी सील हैं।

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *