Home Breaking फ्यूचर मेकर कंपनी ने किया तीन हजार करोड़ की धोखाधड़ी, निवेशकों की बढ़ी चिंता

फ्यूचर मेकर कंपनी ने किया तीन हजार करोड़ की धोखाधड़ी, निवेशकों की बढ़ी चिंता

0
0Shares

Sahab Ram, Yuva Haryana
Chandigarh, 22 Sept, 2018

फ्यूचर मेकर कंपनी के खिलाफ अब मामला बढ़ता जा रहा है। पुलिस के मुताबिक फ्यूचर मेकर कंपनी ने करीब तीन हजार करोड़ रुपये का फ्रॉड किया है। कंपनी के खातों और अन्य कागजातों से इस बात का खुलासा हुआ है।

हालांकि कंपनी के सीएमडी के घर से तेलंगाना की साइबराबाद सिटी पुलिस ने 60 लाख रुपये कैश, चार लैपटॉप, छह मोबाइल फोन, 10 जिंदा कारतूस, रिवाल्वर, कंपनी के प्रोडेक्ट्स और तीन लग्जरी गाड़ियां बरामद की है।

एक दैनिक अखबार को दी गई जानकारी के मुताबिक सीसवाल निवासी राधेश्याम, टिब्बी निवासी बंसीलाल, फतेहाबाद के किरढान निवासी सतबीर, नेशनल डिस्ट्रीब्यूटर सुंदर सिंह और मनोज ने मिलकर कंपनी शुरु की थी। तीन साल में कंपनी ने हजारों करोड़ रुपये लोगों से जमा किये।

जानिये कैसे हुआ इतना बड़ा फ्रॉड ?

कंपनी के निवेशकों से पैसा डबल करने का झांसा देकर पैसे एकत्रित किया जाता था। कंपनी के एंजेट लोगों को कंपनी में पैसे लगाने के लिए उसकाते थे और बाद में चेन सिस्टम के जरिये लोगों को करोड़ो रुपये कमाने का लालच दिया जाता था। कंपनी में 7500 रुपये से काम शुरु किया जाता था, उसके बाद साप्ताहिक तौर पर पैमेंट खातों में आती थी. कंपनी में जुड़ने के बाद हर सप्ताह पैसे आते थे, वहीं अपने से नीचे दो लोगों को जोड़ने पर 500 रुपये अतिरिक्त आते थे। इसी प्रकार से आगे से आगे चेन सिस्टम से जोड़ने पर यह राशि डबल से चार गुना और आठ गुना हो जाती थी।

कैसे हुआ इस फ्रॉड का खुलासा ?

फ्यूचर मेकर कंपनी ने हरियाणा समेत देश के कई इलाकों में तीन साल में अपने पैर पसार लिये थे. कंपनी के इन पांच लोगों ने एक लाख रुपये में यह कंपनी शुरु की थी लेकिन धीरे-धीरे कंपनी ने बेतहाशा पैसे आम जनता से इक्कट्ठे किये। कंपनी के इस फ्रॉड का खुलासा तब हुआ जब तेलंगाना में कंपनी के खिलाफ थाने में पहुंची। तेलंगाना पुलिस ने कंपनी की वेबसाइट को देखकर हरियाणा में दबिश दी जिसके बाद करीब एक महीने तक तेलंगाना पुलिस हरियाणा पुलिस के लिंक में रही और बाद में कंपनी के हिसार के रेड स्कवायर मार्केट में स्थित दफ्तर पर छापेमारी कर सील किया गया। अब कंपनी के खातों की जांच के बाद इस फ्रॉड का खुलासा हुआ है। कंपनी के खातों और लैपटॉप से बरामद डाटा से आर्थिक विशेषलक टीम ने करीब तीन हजार करोड़ रुपये के फ्रॉड होने की बात कही है।

कंपनी का सीएमडी कभी सीलता था लोगों के कपड़े 

जानकारी के मुताबिक कंपनी का सीएमडी सीसवाल निवासी राधेश्याम सातवी पास है और करीब दस साल पहले दर्जी का काम करता था, लेकिन यहां पर उसका हाथ ज्यादा नहीं चला, उसके बाद उसने हिसार में प्रॉपर्टी डीलिंग का काम शुरु किया था, लेकिन यहां पर काम अच्छा चल गया और राधेश्याम ने पैसे कमाकर चिटफंड कंपनियों की तरफ रुझान कर दिया। राधेश्याम ने धीरे-धीरे आरसीएम समेत कई कंपनियों में काम किया और वहां पर बतौर वक्ता भी काम किया। इसकी एवज में दस हजार से 15 हजार रुपये भी लेता था। करीब तीन साल पहले राधेश्याम ने कंपाउडर एमडी बंसीलाल समेत पांच दोस्तों के साथ मिलकर एक लाख रुपये में फ्यूचर मेकर कंपनी शुरु की थी।

 

 

Load More Related Articles
Load More By Yuva Haryana
Load More In Breaking

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

भूपेंद्र सिंह हुड्डा बोले- ‘अभी फसलों की ख़रीद बंद ना करे सरकार, बचे हुए किसानों को दे और मौक़ा’

Sahab Ram, Yuva Haryana, Chandigarh पूर्व मु…