एक लाख का इनामी बदमाश अमित डागर गिरफ्तार, कई गैंगस्टरों से मिलता था डागर

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें हरियाणा
Manu Mehta, Yuva Haryana
Gurugram, 13 August, 2018
गुरुग्राम पुलिस ने मुठभेड़ के बाद लंबे समय फरार चल रहे गैंगस्टर कौशल के खासमखास गुर्गे अमित डागर को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है. दरअसल गुरुग्राम पुलिस को सूचना मिली थी अमित डागर अपने करने साथी के साथ किसी बड़ी वारदात को अंजाम देने की फिराक में साइबर सिटी में दाखिल होने वाला है और इसी अहम सूचना पर गुरुग्राम पुलिस ने ट्रैक लगाया और बदमाश का इंतजार करने लगी  तभी द्वारका एक्सप्रेसवे के आस पास संदिग्ध गाड़ी आती दिखी गुरुग्राम पुलिस ने इस गाड़ी को रुकने का इशारा किया की तभी गाड़ी में बैठे बदमाशों ने गुरुग्राम पुलिस पर फायरिंग शुरू कर दी।
दोनों तरफ से दर्जनभर फायर होने के बाद एक बदमाश को पैर में गोली लगी जिसे की घायल अवस्था में गुरुग्राम के सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया बदमाश की पहचान लंबे समय से फरार चल रहे अमित डागर के तौर पर हुई बहर हाल गुरुग्राम पुलिस ने पलवल के रहने वाले अमित डागर को एक अन्य साथी के साथ गिरफ्तार कर लिया वही इस मामले में गुरुग्राम पुलिस के एसीपी क्राइम की माने तो बदमाश अमित डागर को 4 दिन की पुलिस रिमांड पर लिया गया है और मामले की तफ्तीश गंभीरता से की जा रही है।
वहीं इस मामले में गुरुग्राम के एसीपी क्राइम शमशेर सिंह की माने को गिरफ्तार किया गया बदमाश कौशल गैंग का मुख्य सदस्य है तथा गुरुग्राम पुलिस के मोस्ट वांटेड अपराधियों की लिस्ट मे सबसे ऊपर था। यह पिछले लगभग 15 सालों से अपराध की दुनियां मे सक्रिय था।
गैंगस्टर कौशल के साथ मिलकर इसने हत्या जैसी कई संगीन वारदातों को अंजाम दिया था। इसने वर्ष 2006 मे नाहरपुर रूपा निवासी सुदेश उर्फ छैलू की हत्या की थी। कुछ साल पहले ये अपने गैंग के साथ कैथल हरियाणा के एक और मोस्ट वांटेड सुरेंदर ग्योंग से मिल गया था तथा उसके साथ मिलकर इसने काफी अपराध किए थे।
पैरोल पर आने उपरांत इसने लगभग 8 हत्याओं में शामिल होने की वारदातें कबूली है जिसमें 2016 में गैंगस्टर महेश उर्फ अटैक की हत्या, फरुखनगर के शराब व्यवसायी सतबीर की हत्या, अपने ही गांव के जोनी की मां की हत्या, रेवाड़ी के बवाल में गिरदावर की हत्या और तातारपुर के पूर्व सरपंच संजय की हत्या को अंजाम दे गरुग्राम पुलिस के लिए लगातार चुनौती पेश करता आ रहा था।
वहीं पुलिस अधिकारियों की माने तो पुलिस गिरफ्त में खड़े इस खतरनाक बदमाश ने अपने गैंग की ताकत बढ़ाने के लिए कैथल के एनकाउंटर में मारे गए नामी गैंगस्टर सुरेंदर गयोंग और दिल्ली पुलिस द्वारा एनकाउंटर में मारे गए गैंगस्टर और क्रांति गैंग के सरगना संजीत बिद्रो और राजेश भारती से भी हाथ मिलाया था लेकिन इससे पहले यह अपने मंसूबो में कामयाब हो पाता सभी बदमाश एनकाउंटर में मार दिए गए।
वहीं पुलिस की माने तो फ़रारी के दौरान यह लोगों से जबरन उगाही (रंगदारी) करने के लिए कॉल करने लगा तथा जबरन उगाही करता था। इसके लिए यह मुख्य रूप से बुक्की या इस तरह के काम करने वालों को निशाना बनाते थे। इन्होने गाड़ियों की लूट की कई वारदात कई बिजनेसमैन/प्रापर्टी डीलरो को फोन करके रंगदारी मांगने की वारदातो को भी अन्जाम दिया है। फिरौती ना देने पर इसने कई व्यक्तियों पर भी जान से मारने की नीयत से फायरिग करने की वारदातो मे भी वांछित रहा है।गुरुग्राम पुलिस ने गिरफ्तार बदमाश के कब्जे से आई 20 गाड़ी और एक पिस्तौल बरमाद किया है और मामले की तफ्तीश जारी है।
वहीं गैंगस्टर के गुर्गे की गिरफ्तारी के बाद गुरुग्राम पुलिस गैंगस्टर कौशल को गिरफ्तार करने के प्रयास भी तेज कर दिए है. बहरहाल गुरुग्राम पुलिस ने बदमाश अमित डागर का चार दिन का पुलिस रिमांड ले मामलो की गहनता से जांच भी शुरू कर दी है. आपको बता दे कि गुरुग्राम पुलिस ने इस खतरनाक बदमाश की गिरफ्तारी पर जहां 1 लाख का इनाम घोषित किया था तो वही कैथल पुलिस ने भी हत्या के मामले में अमित डागर पर 5 हज़ार का इनाम घोषित किया हुआ था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *