पिछले दस सालों से पुलिस के लिए बना हुआ था सिरदर्द, किसी थाने में नहीं थी इस गैंगस्टर की फोटो

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें हरियाणा हरियाणा विशेष

Bhagat Singh, Yuva Haryana
Palwal, 17 Oct, 2018

मुंबई से लेकर नेपाल तक 10 वर्षों तक पुलिस की आंखों में धूल झोंकने वाले 17 मामलों में वांछित 50 हजार के इनामी बदमाश अजय गुर्जर को अपराध जांच शाखा के बहादुर इंस्पेक्टर सुरेश भड़ाना ने गिरफ्तार कर लिया । जिला पुलिस अधीक्षक वसीम अकरम ने आज पुलिस लाइन में आयोजित पत्रकार वार्ता में खुलासा करते हुए कहा कि सीआईए की टीम पिछले लंबे समय से अजय गुर्जर की तलाश में जुटी हुई थी।

अजय गुर्जर के खिलाफ लूट, डकैती, हत्या ,हत्या के प्रयास ,रंगदारी मांगने सहित 17 मामले दर्ज है। अजय गुर्जर मुंबई नेपाल उत्तर प्रदेश राजस्थान में भी अपराधिक लोगों के संपर्क में रहकर गतिविधियों में संलिप्त रहता था। मामले का दिलचस्प यह हैं कि अजय गुर्जर का पुलिस के पास कोई फोटो न होने के  कारण वह लगातार पुलिस की आंखों में धूल झोंकता रहा हैं और कल ही गांव में  कथा में शामिल होने आया था ।जिसकी सूचना अपराध जांच शाखा के पुलिस इंस्पेक्टर सुरेश भड़ाना को लगी ।

उन्होंने आला अधिकारियों से संपर्क कर पुलिस टीम के साथ गांव में छापा मारकर गिरफ्तार कर लिया । अजय गुर्जर से भारी संख्या में हथियार भी बरामद किए हैं ।जिला पुलिस अधीक्षक ने बताया कि अजय गुर्जर से देसी कार्बाइन ,कट्टा , बंदूक व अन्य हथियार बरामद की है। अजय गुर्जर पर जुलाई में गुरु नानक अस्पताल के डॉ अनूप सिंह से 1 करोड रुपए की फिरोती मांगी था। डॉक्टर अनूप सिंह को एक मिठाई के डिब्बे में पिस्टल व  गोली भेजकर रंगदारी की मांग की गई थी। पुलिस अधीक्षक वसीम अकरम ने पुलिस टीम को शातिर बदमाश को गिरफ्तार करने पर बधाई देते हुए कहा कि अपराधिक गतिविधियों के चलते ही अजय गुर्जर पासपोर्ट नहीं बनवा पाया था ।

उन्होंने बताया कि अब पुलिस ने गुर्जर को गिरफ्तार कर अदालत में पेश किया है जहां से अदालत ने गुर्जर को 3 दिन के पुलिस रिमांड पर भेजा है ।वहीं अन्य राज्यों में भी पुलिस अजय गुर्जर को प्रोडक्शन वारंट ले जाकर वहां दर्ज अपराधिक मामलों की जांच करेगी । तभी अजय गुर्जर के साथियों के पूरे नेटवर्क का खुलासा हो पाएगा ।

अधीक्षक ने बताया कि उसने अपना फेसबुक अकाउंट भी बना रखा था और जिस पर वह अपने खिलाफ मुकदमे दर्ज होने पर समाचार पत्रों में छपने वाले अखबार की कटिंग  को फेसबुक पर लगा कर अपना रोब दिखाता था।एसपी ने  बताया कि अजय गुर्जर पर राजस्थान के भरतपुर मैं भी हत्या का मामला दर्ज है वहीं वह मथुरा अलीगढ़ भरतपुर आदि में अपना नेटवर्क चलाता था। पुलिस ने उसके कब्जे से हथियार बरामद किए हैं ।

उन्होंने कहा कि पुलिस रिमांड के दौरान पूरे मामले का खुलासा हो पाएगा कि अजय गुजर की कितनी संपत्ति है और उसके गिरोह में कौन-कौन लोग शामिल थे और किन लोगों से उनका उसका संपर्क रहा है। फिलहाल इस शातिर अपराधी को पकड़े जाने पर उन लोगों ने राहत की सांस ली है जिन्हें  पिछले दिनों जान से मारने की धमकी देकर रंगदारी मांगी थी।अजय गुर्जर ने बताया कि वह जूडो का खिलाड़ी रहा है लेकिन कई बार परिस्थितियों के चलते वह अपराध की दुनिया में चला गया । इस मौके पर डीएसपी विजयपाल,जयराम सब इस्पैक्टर,सतबीर एएसआई,सुरेन्द्र सहित अन्य पुलिस अधिकारी मौजूद थे।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *