2.5 लाख रुपये का इनामी कुख्यात गैंगस्टर राजू बसौदी गिरफ्तार, कई राज्यों में चलाता था गैंग

Breaking अनहोनी चर्चा में बड़ी ख़बरें हरियाणा हरियाणा विशेष

Sahab Ram, Yuva Haryana

हरियाणा पुलिस की स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) ने एक बडी कामयाबी हासिल करते हुए लॉरेंस बिश्नोई द्वारा संचालित अंतरराज्यीय आपराधिक गिरोह से संबंधित कुख्यात अपराधी राजू बसौदी को गिरफ्तार किया है।
हरियाणा पुलिस के प्रवक्ता ने आज यहां यह जानकारी देते हुए बताया कि राजू बसौदी को हरियाणा, राजस्तान, पंजाब, चंडीगढ़ और दिल्ली की पुलिस को तैलाश थी। हरियाणा पुलिस ने उसकी गिरफ्तारी पर 2.5 लाख रुपये का इनाम घोषित किया था, जिसमें सोनीपत पुलिस द्वारा 1 लाख रुपये, झज्जर पुलिस द्वारा 1 लाख रुपये और रोहतक पुलिस द्वारा 50000 रुपये का ईनाम शामिल है।

कुख्यात अपराधी को पकड़ने के लिए हाल ही में एसटीएफ हरियाणा पुलिस के अनुरोध पर एक लुक आउट सर्कुलर जारी किया गया था। ईमिग्रेशन अधिकारियों द्वारा अलर्ट किए जाने के बाद अपराधी को एसटीएफ ने दिल्ली एयरपोर्ट से गिरफ्तार किया।

सोनीपत जिले के बसौदी गाँव का निवासी यह गैंगस्टर हरियाणा और उसके पड़ोसी राज्यों की पुलिस के लिए एक बड़ी चुनौती बना हुआ था और वह हरियाणा, दिल्ली, राजस्थान और पंजाब के कई मामलों में वांटेड था। कई राज्यों की पुलिस को इसकी तैलाश थी।

लॉरेंस बिश्नोई, संपत नेहरा, अनिल छिप्पी, अक्षय पालरा, और नरेश सेठी जैसे खूंखार गैंगस्टर्स के साथ राजू के निकटतम संबंध है, जो फिलहाल विभिन्न जेलों में बंद हैं। इसका करीबी सहयोगी संदीप उर्फ काला हाल ही में फरीदाबाद में कुछ दिन पहले पुलिस हिरासत से फरार हुआ है।

आरोपी एक वसूली गिरोह चलाता है जिसने इलाके में आतंक मचा रखा था। यह हरियाणा, चंडीगढ़, पंजाब और दिल्ली में कई व्यक्तियों से जबरन वसूली के लिए सक्रिय था। इसके गिरोह ने एरिया में कई सनसनीखेज अपराधों का अंजाम दिया। राजू बसौदी के खिलाफ दो दर्जन से अधिक मामले दर्ज हैं। वह हत्या के 13 मामलों, हत्या के प्रयास के 3 मामलों और लूट और डकैती के लगभग एक दर्जन मामलों में शामिल है। इसका गैंग सोशल मीडिया प्लेटफ़ॉर्म ख़ासकर फेसबुक का इस्तेमाल अपने टारगेट को डराने के लिए, विभिन्न अपराधों में अपनी भूमिका का दावा करने के लिए या अपनी भीषण हत्याओं को गलत नैतिक और वैचारिक रंग देने के लिए इस्तेमाल करता है। इस गिरोह ने हाल ही में पंजाब के मलोट और चंडीगढ़ के मनीमाजरा में अपने प्रतिद्वंद्वियों की दिनदहाड़े हत्याएं कीं।

राजू बसौदी की गिरफ्तारी को एसटीएफ की ओर से बड़ी सफलता के रूप में देखा जा रहा है। आरोपी का पुलिस रिमांड प्राप्त करने के लिए एक अदालत के समक्ष पेश किया जाएगा जिससे उसके सहयोगी काला जथेरी के बारे में सुराग मिलने की संभावना है और साथ ही क्षेत्र के कई और आपराधिक मामलों को सुलझाने में मदद मिल सकती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *