बदमाशों ने कॉल करके पहले घर से बाहर बुलाया, करीब 300 मीटर दूर ले जाकर मारी 13 गोलियां

Breaking अनहोनी चर्चा में बड़ी ख़बरें हरियाणा हरियाणा विशेष

Yuva Haryana,

Sonipat, 19 Jan,2019

अर्जुन नगर निवासी 20 वर्षीय नितिन रावल की पांच बदमाशों ने गुरुवार देर रात साढ़े 12 बजे 13 गोलियां मारकर हत्या कर दी। बताया जा रहा सुंदरा गैंग के सरगना ने पहले वीडियो कॉल करके नितिन को घर के बाहर बुलाया और घर से करीब 300 मीटर की दूरी पर ले जाकर चार शूटरों के साथ मिलकर उस पर गोलियों बरसा दी। जिनमें से तीन गोलियां नितिन के सिर के आरपार हो गईं। वारदात के बाद पांचों बदमाश कार से फरार हो गए। इस दौरान पूरी वारदात सीसीटीवी में कैद हो गई है।

सुंदरा गैंग का सरगना मृतक नितिन का भी दोस्त था। नितिन की मां राजरानी की शिकायत पर टिंकू, मीता, बिट्टु, लंगडा और नीरज उर्फ चौटाला के खिलाफ हत्या सहित विभिन्न धाराओं में केस दर्ज किया गया है। नितिन को गोली मारने वाले एक बदमाश ने शुक्रवार सुबह सरेंडर कर दिया।

जानकारी के अनुसार बदमाशों के गोली मारकर जाने के 15 मिनट बाद नितिन का दोस्त मौके पर पहुंच गया। उसने नितिन की मां राजरानी को इसकी सूचना दी। सूचना मिलते ही मां मौके पर पहुंची और इकलौते बेटे को इस हालत में देख बेहोश हो गई। इसके बाद स्थानीय लोग बेहोश मां और घायल नितिन को लेकर सामान्य अस्पताल पहुंचे। जहां डॉक्टरों ने नितिन को मृत घोषित कर दिया।

पुलिस का कहना है कि मृतक नितिन बड़ा बदमाश बनाना चाहता था। इसी वजह से उसकी हत्या काबड़ी के बदमाश मीता उर्फ अमित ने सुंदरा गैंग को पांच लाख रुपये की सुपारी देकर करवाई है। नितिन ने बदमाश मीता को फेसबुक पर वीडियो अपलोड करके गाली-गलौच की थी।

पुलिस के अनुसार नितिन ने अपने फेसबुक प्रोफाइल पर भी कई बड़े बड़े बदमाशों की फोटो लगाई हुई है। उसने स्टडिंग इन बदमाशी का स्टेट्स भी डाल रखा है। नितिन अक्सर बड़े-बड़े बदमाशों को अपनी फेसबुक पर चेतावनी देता रहता था। बताते हैं अवैध हथियार रखने और लोगों से लड़ाई-झगड़ा कर उनके हाथ-पांव तोड़ने के जुर्म में नितिन तीन बार जेल जा चुका है।

मृतक नितिन मूलत: गन्नौर के गांव पीपलीखेड़ा का रहने वाला है। तीन माह पहले ही उसके पिता की हार्ट अटैक से मौत हो गई थी। पिता की मौत के बाद वह मां राजरानी के साथ रहता था। उसकी दो बड़ी बहनों की शादी हो चुकी है। नितिन को बदमाशी का शौक था। वह करोड़ों की संपत्ति का मालिक था।

करीब 20 दिन पहले नितिन ने अपनी फेसबुक पर एक वीडियो जारी किया था। इसमें वह गांव काबड़ी निवासी एक युवती को गालियां और धमकी दे रहा है। स्थानीय लोग नितिन की हत्या का कारण यही वीडियो जारी करना मान रहे हैं।

गुरुवार रात दो बजे नितिन का शव शवगृह में रखा गया था। लेकिन पोस्टमार्टम करने के लिए अस्पताल में डॉक्टर नहीं थे। सुबह से दोपहर तक उनका इंतजार करने के बाद परिजनों का गुस्सा फूट गया। गुस्साए परिजनों ने अस्पताल के बाहर जीटी रोड पर जाम लगा दिया। इसके बाद थाना शहर पुलिस, सदर थाना पुलिस वहां पहुंची और लोगों को समझाकर जाम हटवाया। जाम लगाने की सूचना मिलते ही डॉक्टर सामान्य अस्पताल पहुंचे और पोस्टमार्टम की प्रक्रिया को पूरा कर शव परिजनों को सौंप दिया।

एसपी पानीपत सुमित कुमार ने कहा कि तीनों सीआईए टीम केस की तफ्तीश कर रही है। पुलिस की कई टीमें बदमाशों को पकड़ने के लिए छापेमारी कर रही हैं। जल्द ही बदमाशों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *