48 घंटे के अंदर न मिले गैस कनेक्शन तो, विधायक के घर से उठा लाना सिलेंडर: सीएम खट्टर

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें राजनीति हरियाणा हरियाणा विशेष

Vivek Kumar Rana, Yuva Haryana
Gharaunda, 20-05-2018

सीएम खट्टर गांव मुनक के स्टेडियम में ग्रामीणों को संबोधित करने पहुंचे। वहां उन्होंने संबोधन में कहा कि बीजेपी सरकार किसी एक व्यक्ति की समस्या के लिए काम नहीं कर रही है, बल्कि एक व्यक्ति समस्या लेकर आता है, तो उसे सार्वजनिक समझ कर उसको पूरे प्रदेश में लागू करते है।

हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने आज करनाल के मुनक गांव में 24 घंटे बिजली देने, मुनक में पुलिस स्टेशन, प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र, अनाज मंडी में सब यार्ड बनाने, स्कूल में स्टाफ पूरा करने, तीन गुरूद्वारा के लंगर हाल के लिए 15 लाख रुपये, ओड़ जाति की चौपाल के लिए 5 लाख रुपये, स्टौंडी से गांव पिचौलिया तक सडक़ बनाने, कुताना गांव में कश्यप चौपाल के लिए 5 लाख रुपये के अतिरिक्त गांव कुताना, बल्ला, पधाना, मोर माजरा में व्यायामशाला बनाने की घोषणा की।

उन्होंने जनसभा में महिलाओं से पूछा कि किस महिला पर गैस सिलेंडर नहीं है, वे हाथ उठा ले। जिसमें दर्जन भर महिलाओं ने हाथ उठाया। सीएम ने हरियाणवी भाषा में कहा कि डीसी महोदय महिलाओं को 48 घंटे में सिलेंडर उपलब्ध कराये। उन्होंने महिलाओ से कहा कि अगर 48 घंटे में सिलेंडर नही मिल्या, तो वे डीसी व असंध के विधायक बखशीश सिंह घर पर पहुंच जाना और घर से सिलेंडर उठा लाना।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस व इनेलो SYL पर राजनीति करना चहाती है, लेकिन कभी इन्होंने SYL पर काम करने की सोच तक नहीं रखी। सुप्रीम कोर्ट का फैसला प्रदेश सरकार के हक में आने वाला है, इसलिए इनको SYL का मुद्दा याद आने लग गया। इसके अलावा प्रदेश मुख्यमंत्री ने कहा कि देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने महिलाओं के स्वास्थ्य को देखते हुए सभी को सिलेंडर देने की घोषणा की है।

राजकीय उच्च विद्यालय मूनक में पिछले काफी दिनों से अध्यापकों की कमी चल रही है। जिससे छात्राओं की पढ़ाई बाधित हो रही है। छात्राओं ने अध्यापकों की कमी को पूरा करने की मांग को लेकर गांव से स्टेडियम तक रोष मार्च निकाला और जनसभा में पहुंच गई।

एसएमसी के लोगों ने अध्यापकों की कमी को लेकर विरोध भी जताया, लेकिन सुरक्षाकर्मियों ने छात्राओं व एसएमसी को सीएम तक नहीं पहुंचने दिया। सीएम से मिलकर अपनी समस्या रखना चहाती थी, लेकिन गैलरी में बिठाकर बिस्कुट दे दिए, लेकिन सीएम से मिलने नही दिया।

जिससे छात्राएं मायूस दिखाई दी,लेकिन सीएम को जैसे ही छात्राओं की समस्या की जानकारी मिली,तो उन्होंने तुरंत कहा कि स्कूल में अध्यापकों की कमी नहीं रहने दी जाएगी।

 

Read This News Also>>>महाराणा प्रताप जंयती पर सीएम का बड़ा ऐलान, गाडिया लुहार वर्ग के लोगों को मिलेंगे मुफ्त घर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *