बाल्मीकि जयंती पर ओपी धनखड़ को बुलाया था मुख्यातिथि, जब गीता भुक्कल पहले पहुंची तो धनखड़ ने किया किनारा

Breaking Uncategorized चर्चा में बड़ी ख़बरें राजनीति हरियाणा हरियाणा विशेष
Pardeep Dhankar, Yuva Haryana
Jhajjar, 24 Oct, 2018
सूबे की पूर्व शिक्षा मंत्री गीता भुक्कल इनेलो में चल रही जंग पर तंज कसते हुए कहा कि इनेलो की आंतरिक कलह अब सडकों पर आ गई है।
आज हालात ऐसे बन गए है कि इनेलो सुप्रीमो ओपी चैटाला के सामने पार्टी और परिवार बिखर गई है। इस से ये भी साबित होता है कि जनता का मोह भी इनेलो से भंग हो चुका है। हैरानी बात है कि इनेलो सुप्रीमो ओपी चौटाला परिवार व पार्टी को संभाल नहीं पाए है।
भुक्कल ने कहा आज विकल्प के तौर पर जनता कांग्रेस की तलाश कर रही है। भुक्कल बुधवार को झज्जर में आयोजित महर्षि वाल्मीकि जयंती के अवसर पर बतौर मुख्यतिथि के तौर पर पहुंची थी। कार्यक्रम में वैसे मुख्यतिथि कृषि मंत्री को बुलाया गया था, लेकिन पहले भुक्कल कार्यक्रम में पहुंच गई है। जिसके बाद कृषि मंत्री ने कार्यक्रम का बायकाट कर दिया।
वही इस दौरान गीता भुक्कल ने सूबे के कृषि मंत्री ओपी धनखड पर भी भेदभाव का आरोप लगाया है। भुक्कल ने कहा कि कृषि मंत्री केवल मात्र बादली हलके के मंत्री बनकर रह गए है। मंत्री जी भुल चुके है कि पूरे प्रदेश के मंत्री है। भुक्कल के मुताबिक कृषि मंत्री ने झजजर हलके के सरंपचों के साथ भेदभाव किया है। झज्जर हलके की किसी भी पंचायत को गांव के विकास कराने के लिए एक रुपये की ग्रांट तक नही दी है। आज हालात है कि झज्जर जिले केी जनता मंत्री जी की खिलाफत पर उतर आई है।
रोडवेज की हड़ताल पर बोलते हुए गीता भुक्कल ने कहा कि बडे दुर्भागय की बात है कि त्योहारों के दिन कर्मचारी सड़को पर है।
मुख्यमंत्री मनेाहर लाल द्वारा पंजाब राजस्थान से रोडवेज बसे लेने का बयान निंदनीय है। भुक्कल ने कहा कि हमारे प्रदेश के कर्मचारी है, उनकी मांगों पर ध्यान देना चाइये, खटटर साहब को शायद पता नही कि सरकार हमेशा कर्मचारियों की मदद से चलती है, भुक्कल के मुताबिक सरकार चार साल में पूरी तरह से फैल हो चुकी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *