हरियाणा पुलिस के जवानों को मिल सकती है जल्द ही खुशखबरी, जानिये

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें सरकार-प्रशासन हरियाणा हरियाणा विशेष

Yuva Haryana, Chandigarh

हरियाणा पुलिस के जवानों को जल्द ही बड़ी खुशखबरी मिलने की उम्मीद है। गृह विभाग ने पुलिस कर्मचारियों के वेतन भत्तों में बढोत्तरी की तैयारी कर ली है जिसके लिए विभाग की तरफ से पुलिस कर्मचारियों के वेतन भत्तों की पूरी रिपोर्ट को रिव्य करने की तैयारी है। विभाग ने एसीएस को इस बारे में पत्र भी लिखा है।

पुलिस के जवानों के वेतन में तो सरकार ने सातवें वेतन आयोग के अनुसार बढ़ोतरी कर दी थी लेकिन भत्ते इसके अनुसार नहीं बढ़ाए थे। हालांकि सरकार ने पिछले साल हाउस रेंट में बढ़ोतरी की थी लेकिन एक जनवरी, 2016 से लागू नहीं किया गया था। हालांकि जबकि कर्मचारियों की मांग पंजाब के समान वेतन भत्ते देने की मांग रही है।

सूत्रों का कहना है कि गृह मंत्रालय की ओर से इस पूरे मामले में रिव्यू करने के लिए कमेटी बनाने के आदेश भी दिए गए हैं ताकि यह पता लग सके कि कौनसे भत्ते कम हैं, जिन्हें बढ़ाया जा सकता है। भत्ते बढ़ाने से सरकार पर कितना बोझ आएगा, इसका भी गणित यह कमेटी लगाएगी।

बता दें कि हरियाणा में 45 हजार से ज्यादा पुलिस कर्मचारी और अधिकारी हैं। गृह मंत्रालय का मानना है कि पुलिस के जवान 24 घंटे प्रदेश में सुरक्षा व्यवस्था संभालते हैं। उन्हें कुछ तो इतने भत्ते मिलते हैं कि जिनमें एक महीने का भी काम नहीं चलता, इसलिए मंत्रालय ने भत्तों को रिवाइज करने का निर्णय लिया है।

हरियाणा सरकार की ओर से अप्रैल, 2018 में कई भत्तों में बढ़ोतरी की गई थी। सेवा दिवस पर मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने इसकी घोषणा की थी। बताया गया है कि अभी भी कुछ भत्ते छठे वेतन आयोग के अनुसार ही मिल रहे हैं। पुलिस के जवानों को राशन भत्ता, किटमेंटीनेंस, व्हीकल भत्ता, मेडिकल भत्ता, वर्दी भत्ता आदि मिलते हैं। अब गृह मंत्री विज ने एसीएस होम को चिट्‌ठी लिखकर कहा है कि भत्तों को रिवाइज किया जाए। अगर बात सिरे चढ़ती है तो हजारों पुलिस कर्मचारियों को सीधा फायदा होगा।

गृह मंत्री अनिल विज ने कहा कि पुलिस कर्मचारियों को भत्ते कम मिल रहे हैं। इसलिए एसीएस होम को इन्हें रिवाइज करने के लिए लिखा गया है, क्योंकि पुलिस के जवान 24 घंटे ड्यूटी करते हैं। इसलिए भत्ते भी पूरे मिलने चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *