हरियाणा सिविल मेडिकल सर्विसेज एसोसिएशन के आह्वान पर हड़ताल पर बैठे सरकारी डॉक्टर्स

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें सरकार-प्रशासन हरियाणा हरियाणा विशेष

Rudra Rajesh Kundu, Yuva Haryana

Hisar, 5 September 2019 

 

हरियाणा में हड़तालों का दौर विधानसभा चुनाव से ठीक पहले लगातार जारी है। पहले प्रदेश भर के स्वास्थ्य विभाग के फार्मासिस्ट ने मोर्चा खोला, उसके बाद नगरपालिका के कर्मचारियों ने और अब प्रदेश भर के सरकारी अस्पताल के चिकित्सक हड़ताल पर चले गए है।

हरियाणा प्रदेश के अस्पतालों में ओपीडी सेवाएं ठप कर प्रदेश के सरकारी डॉक्टर्स हरियाणा सिविल मेडिकल सर्विसेज एसोसिएशन के आह्वान पर हड़ताल पर बैठे है और प्रदर्शन कर रहे है। फिलहाल डॉक्टर्स ने सरकार को 9 सितम्बर तक का अल्टीमेटम दिया है। अगर तब तक मांगे पूरी नहीं हुई तो फिर से सरकार के खिलाफ मौर्चा खोला जाएगा। हड़ताल के दौरान केवल पोर्स्टमॉर्टम और आपातकालीन सेवाएं जारी रहेगी।

इस पर हिसार एसोसिएशन के जिला प्रधान डॉ कामीद मोंगा ने बताया कि डॉक्टरों की मांग केंद्र के समान एसीपी का स्ट्रक्चर, स्पेशलिस्ट्स डॉक्टर को स्पेशल अलाउंस दिया जाए। उन्होंने बताया कि प्रदेश में लगभग 2200 डॉक्टर हड़ताल पर है। केवल पोर्स्टमॉर्टम और आपातकालीन सेवाएं चल रही हैं। डॉ मोंगा ने बताया कि हड़ताल एक दिन की है। लेकिन 9 सितंबर तक यदि मांग नहीं मानी गई तो हड़ताल जारी रहेगी।
वहीं नागरिक अस्पताल में उपचार के लिए आए मरीज अश्विनी कुमार ने बताया कि वह जॉइंट पेन से परेशान हैं और पिछले 3 से 4 दिनों से अस्पताल के चक्कर लगा रहे हैं। लेकिन आज हड़ताल होने की वजह से उनके टेस्ट नहीं हो पाए और इसको लेकर उन्हें काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। अश्विनी कुमार ने बताया कि सरकार को इस तरह की हड़ताल होने पर अतिरिक्त डॉक्टरों की सुविधा मुहैया करवानी चाहिए ताकि मरीजों को परेशानी ना हो।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *