जल्द ही 502 अवैध कालोनियों को नियमित करेगी सरकार

Breaking बड़ी ख़बरें सरकार-प्रशासन हरियाणा हरियाणा विशेष

Yuva Haryana

Chandigarh (24 April 2018)

सरकार ने प्रदेश के अवैध कालोनियों को पक्का करने जा रही है। करीब एक हजार कालोनियों को पक्का करने के प्रस्ताव सरकार के पास आए थे, जिसमें से 502 कालोनियों को नियमों पर खरा पाया। हालांकि इन कालोनियों को पक्के करने से पहले सरकार कानूनी सलाहकार की राय ले रही है जिसके बाद जल्द ही कालोनियों को नियमित करने के आदेश जारी कर दिए जाएंगे।

हरियाणा के 10 नगर निगमों की ओर से 384 अवैध कालोनियों को नियमित करने का प्रस्ताव भेजा गया था। जिनमें से 217 कालोनी मापदंड पूरे करती है। इसी तरह नगर परिषद की ओर से 223 कालोनियों को नियमित करने का प्रस्ताव भेजा गया था, जिनमें 100 कालोनियां मापदंड पूरे करती हैं। वहीं नगर पालिकाओं की 185 कालोनियों को नियमित किया जाएगा।

बता दें कि पिछली हुड्डा सरकार में भी अवैध कालोनियों को नियमित करने की मांग कई बार उठी थी, मगर इसे पूरा नहीं किया जा सका। पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट ने भी इन कालोनियों को नियमित करने की प्रक्रिया पर सवाल उठाए थे। इसके बाद भाजपा सरकार ने विकास शुल्क लेकर अवैध कालोनियों में सुविधाएं देना आरंभ की और अब इन कालोनियों को नियमित किया जा रहा है।

हरियाणा के 10 नगर निगमों की 217 कालोनियों को मापदंडों पर खरा पाया गया है। इनमें सबसे अधिक रोहतक की 71 कालोनियां, अंबाला की 25, हिसार की 14, करनाल की 23, पंचकूला  6, पानीपत 29, सोनीपत 7 और यमुनानगर नगर निगम की 42 कालोनियां नियमित होंगी। गुरुग्राम में 15 और फरीदाबाद की 9 कालोनी पूर्व में ही वैध घोषित हो चुकी हैं। राज्‍य की 16 नगर परिषदों की 100 कालोनियों को मापदंडों पर खरा पाया गया है। भिवानी नगर परिषद में 10, फतेहाबाद में तीन, टोहाना में दो, सोहाना में चार, हांसी में तीन, बहादुरगढ़ में सात, जींद में नौ, नरवाना में 10, कैथल में आठ, थानेसर में 13, नारनौल में चार, होडल में चार, पलवल में दो, रेवाड़ी में 13, मंडी डबवाली व सिरसा में पांच-पांच कालोनियों को नियमित किया जाएगा।

प्रदेश की 43 नगर पालिकाओं में 185 कालोनियां नियमित की जाएंगी। इसमें नारायणगढ़ की तीन, लोहारू की दो, सिवानी की एक, भूना की 10, रतिया की नौ, फर्रुखनगर की दो, हेलीमंडी-पटौदी की एक-एक, बरवाला व नारनौंद की चार-चार, उकलाना की छह, जुलाना की एक, सफीदों की तीन, उचाना की दो, चीका की सात, कलायत-पूंडरी की तीन-तीन, असंध की दो, घरौंडा की 21, इंद्री की दो, नीलोखेड़ी की तीन, निसिंग की चार, तरावड़ी की आठ, लाडवा की 13, पिहोवा की सात, शाहाबाद की 12, फिरोजपुर झिरका की दो, नूंह की छह, पुन्हाना की नौ, तावडू की चार, अटेली मंडी, महेंद्रगढ़, नांगल चौधरी, कालांवाली की एक-एक, कनीना, समालखा की दो-दो, बावल की पांच, धारूहेड़ा की चार, महम की पांच, सांपला की चार, ऐलनाबाद की दो और गन्नौर की तीन अवैध कालोनियों को नियमित किया जाएगा।

Read This Story

हाइटेक होंगे सरकारी अस्पताल, गांव-कस्बों के अस्पताल में मरीज देखेंगे PGI के डॉक्टर

 

1 thought on “जल्द ही 502 अवैध कालोनियों को नियमित करेगी सरकार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *