जीपीएस वाली एक्टिवा चुराकर भागा बदमाश, पुलिस ने मदद नहीं की तो मालिक ने खुद पीछाकर पकड़ा

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें हरियाणा हरियाणा विशेष

Yuva Haryana

Panipat, 26 March, 2019

जीपीएस वाली एक्टिवा चुराकर भागने वाले बदमाश को एक्टिवा मालिक ने कुल पौने घंटे बाद करनाल में पकड़ लिया।

पीड़ित ने दो बार  100 नंबर  पर कॉल करके पुलिस को लोकेशन भी बताई फिर भी पुलिस ने पीड़ित की कोई सहायता नहीं की। जिसके बाद पीड़ित ने जीपीएस की मदद से एक्टिवा की लोकेशन और स्पीड की जानकारी से चोर को धर- दबोचा।

वहीं डीएसपी हेडक्वार्टर सतीश कुमार वत्स का कहना है कि ऐसा मामला अभी उनके नोटिस में नहीं है। अगर वाहन मालिक ने 100 नंबर पर फोन कर लोकेशन बताई तो पुलिस को तुरंत एक्शन लेना चाहिए था। इसकी जांच करवाई जाएगी और जो दोषी पाया जाएगा उस पर कार्यवाही की जाएगी।

जानकारी मुताबिक मॉडल टाउन निवासी अशोक वीका की असंध रोड पर दुकान है। उन्होंने बताया कि सोमवार शाम करीब 3 बजे वह लाल बत्ती पंजाब एंड सिंध बैंक के पास बिजनेस के सिलसिले में आया था।

वहां बैंक के पास वह एक्टिवा खड़ी करके मीटिंग में चला गया, जब वह वापस लौटा तो एक्टिवा गायब मिली।

एक्टिवा में जीपीएस लगा हुआ था। जब उसने मोबाइल पर चेक किया तो एक्टिवा की लोकेशन कोहंड में मिली। वह समझ गया कि एक्टिवा चोरी हो गई है।

अशोक ने पुलिस को सूचित किया लेकिन पुलिस नहीं आई। इसके बाद उसने दोस्त की बाइक मांगकर आरोपी का पीछा शुरू किया। कोहंड पहुंचने पर एक्टिवा की लोकेशन देखी तो वह घरौंडा थी और 50 से 60 की स्पीड पर चल रही थी। दोबारा 100 नंबर पर फोन घरौंडा टोल पर आरोपी को पकड़ने के लिए पुलिस को कहा लेकिन पुलिस ने फिर भी कोई जवाब नहीं दिया।

घरौंडा पहुंचने पर एक्टिवा मधुबन पहुंच चुकी थी। अशोक ने करनाल के दोस्त सतीश को फोन पर एक्टिवा का नंबर बताकर जीटी रोड पर खड़ा किया।

अशोक एक्टिवा की लोकेशन बताता रहा और सतीश ने चोर को एक्टिवा सहित पकड़ लिया। आरोपी ने अपना नाम जयसिंह निवासी जिरकपुर बताया। उसने कबूला कि अशोक के जाते ही उसने एक्टिवा चुरा ली थी और वह एक्टिवा को जिरकपुर बेचने जा रहा था।

अशोक ने 4 हजार रुपए में जीपीएस लगवाया था। इसकी लोकेशन मोबाइल पर एप्लीकेशन के माध्यम से देखी जा सकती थी। जिसकी मदद से आरोपी को पकड़ा जा सका। वहीं डीएसपी हेडक्वार्टर सतीश का कहना है कि अगर वाहन मालिक ने 100 नंबर पर फोन कर मदद मांगी थी, तो पुलिस को तुरंत जांच करनी चाहिए थी। इस पर वे आगामी कार्यवाही करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *