मंडियों में किसानों के अनाज की बेकद्री, बारिश में भीगा किसानों का पीला सोना

Breaking खेत-खलिहान चर्चा में बड़ी ख़बरें हरियाणा

Pardeep Dhankar, Yuva Haryana
Jhajjar, 3 May, 2018

सरकार व प्रशासन की तरफ से किसान व किसानो की फसल को मंडी में पूरी तरह से हर सुविधा मुहैया कराने के दावे किए गए लेकिन धरातल पर ये दावे खोखले साबित होते नजर आ रहे है। ऐसा ही देखने को मिला झज्जर की अनाज मंडी में।

झज्जर में रात के समय हुई दूसरी बारिश में अनाज मंडी में पडा गेंहू पूरी तरह से बर्बाद हो गया । दुसरी ही बारिश में अनाज मंडी में पडा किसानो का गेंहू पानी पानी हो गया। खुले आसमान के नीचे रखा किसानो का गेंहू पूरी तरह से बर्बाद हो गया।

आप तस्वीरों में देख सकते हैं कि किस तरह से किसानों का गेंहू मंडी में बर्बादी की कगार पर है। ये आज जो नजार देख रहे है सूबे के कृषि मंत्री ओपी धनखड के गृह जिले की अनाज मंडी की है।

किस तरह से मंडी में गेहूुं बर्बाद हो गया है। अनाज मंडी में खुले में पड़ा गेहूं भीग गया। मंडी में शेड नहीं होने के कारण खुले में पड़ी गेहूं की बोरियां भीग गई। यहां पर गेहूं का प्रॉपर उठान नहीं होने से किसानों को इस परेशानी का सामना करना पड़ा।

आलम यह रहा की बरसात का पानी बोरियों के नीचे से बहता हुआ दिखाई दिया। तेज बरसात में ना सिर्फ खुले आसमान के नीचे पड़े गेहूं को भिगोने का काम किया, बल्कि अन्नदाता की साल भर की मेहनत पर पानी फेर दिया। जो गेहूं अब भीग गया उसे सुखाना पड़ेगा। जिसके कारण अब गेहूं का रंग फीका भी पड़ सकता है।

किसानों का कहना है कि अचानक हुई बरसात के कारण उन्हें भारी नुकसान हुआ है।

Read This News Also >>>>>
किसानों के लिए सीएम खट्टर का बड़ा ऐलान, खेतों में मिलेगी बेरोकटोक बिजली

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *