यूपी की तरह हरियाणा में भी खट्टर सरकार लगाए निजी स्कूलों की लूट पर लगाम,अभिभावकों ने की मांग

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें राजनीति सरकार-प्रशासन हरियाणा हरियाणा विशेष

Yuva Haryana

Haryana, 4 April, 2018

निजी स्कूलों की मनचाही फीस लेने की मनमानी अब ज्यादा दिनों तक नहीं टिकेगी। उत्तर प्रदेश की भाजपा सरकार निजी स्कूलों की बढ़ती फीस पर अब लगाम लगाने जा रही है।

इस निर्णय की सराहना करते हुए हरियाणा अभिभावक एकता मंच ने प्रदेश सरकार से भी अपील की है कि हरियाणा में भी सख्त नियम लागू कर निजी स्कूलों की लूटपाट को खतम करना चाहिए।

मंच ने मख्यमंत्री को कहा है कि अभिभावकों के वोटों के खातिर ही हरियाणा में भाजपा सरकार आई है। अभिभावक भी एक वोट बैंक है स्कूल प्रंबधक इतने वोट नहीं दिलवा सकते जितने की अभिभावक दे सकते है। वे अभिभावकों की पीड़ा को समझे और उनके धैर्य की परीक्षा न लें।

अभिभवकों का कहना है कि निजी स्कूलों मे कम फीस की मांग को लेकर प्रशासन ने उन्हें ये कहकर चुप करा दिया था कि वो अपने बच्चे के अच्छे भविष्य  के लिए समझौता कर लें और इस मुद्दे को ज्यादा न उछालें।

उनके ऐसे बयान से हरियाणा के सभी छात्र, अभिभावक और अधयापकों में रोष भरा पड़ा है। जिसके चलते वे आने वाले चुनावों में प्रकट करने की ताकत रखते हैं।

मुख्यमंत्री और शिक्षामंत्री स्कूल संचालकों को तो बातचीत करने के लिए समय प्रदान करके उनकी सभी मांगों को मान लेते हैं, जबकि उनके पास अभिभावक संगठनों से बातचीत करने के लिए जरा भी समय नहीं है।

अभिभावक इस सरकार से अपने आप को ठगा हुआ महसूस कर रहे है,  मंच ने इस सरकार के नकारात्मक रूख की जानकारी राज्य के प्रत्येक जिले के अभिभावकों को देने का निर्णय लिया है।

इसके लिए प्रत्येक जिले में गोश्ठी सम्मेलन अभिभावक जागरण अभियान चलाया जायेगा, जिसकी रूप रेखा तय करने के लिए सीएम सिटी करनाल में 15 अप्रेल को सभी जिलों के अभिभावक संगठनों की एक बैठक बुलाई गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *