33.3 C
Haryana
Wednesday, September 23, 2020

यूपी की तरह हरियाणा में भी खट्टर सरकार लगाए निजी स्कूलों की लूट पर लगाम,अभिभावकों ने की मांग

Must read

कोरोना काल में महंगाई से परेशान हैं तो आप भी सीख ले ये बागवानी का तरीका 

Yuva Haryana News Yamunanagar , 23 September , 2020 "कौन कहता है कि आसमान में छेद नहीं होता एक पत्थर तो तबीयत से उछालो यारों"  ये कहावत...

Drugs Case:  जाल में फंसी कई बॉलीवुड हस्तियां, दीपिका पादुकोण समेत जानिए कौन है वो 8 सितारे

Yuva Haryana News Chandigarh , 23 September , 2020 सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद लगातर केस की जांच की जा रही है। सुशांत सिंह राजपूत की मौत का...

भारत में लॉन्च हुआ Moto E7 Plus, कीमत 10 हजार से भी कम 

Yuva Haryana News Chandigarh , 23 September , 2020 Motorola ने भारत में अपना नया स्मार्टफोन मोटो E7 Plus लॉन्च कर दिया है। इसमें काफी Features है जिनको देखकर...

झज्जर-नारनौल के लोगों को मिलने जा रही है ये सौगात, रेल लाइन की तैयारी

Yuva Haryana News Chandigarh, 23 September , 2020 हरियाणा में रेले नेटवर्क का विस्‍तार होने जा रहा हैं। हरियाणा में कई ऐसे रेल नेटवर्क है जिनको...

Yuva Haryana

Haryana, 4 April, 2018

निजी स्कूलों की मनचाही फीस लेने की मनमानी अब ज्यादा दिनों तक नहीं टिकेगी। उत्तर प्रदेश की भाजपा सरकार निजी स्कूलों की बढ़ती फीस पर अब लगाम लगाने जा रही है।

इस निर्णय की सराहना करते हुए हरियाणा अभिभावक एकता मंच ने प्रदेश सरकार से भी अपील की है कि हरियाणा में भी सख्त नियम लागू कर निजी स्कूलों की लूटपाट को खतम करना चाहिए।

मंच ने मख्यमंत्री को कहा है कि अभिभावकों के वोटों के खातिर ही हरियाणा में भाजपा सरकार आई है। अभिभावक भी एक वोट बैंक है स्कूल प्रंबधक इतने वोट नहीं दिलवा सकते जितने की अभिभावक दे सकते है। वे अभिभावकों की पीड़ा को समझे और उनके धैर्य की परीक्षा न लें।

अभिभवकों का कहना है कि निजी स्कूलों मे कम फीस की मांग को लेकर प्रशासन ने उन्हें ये कहकर चुप करा दिया था कि वो अपने बच्चे के अच्छे भविष्य  के लिए समझौता कर लें और इस मुद्दे को ज्यादा न उछालें।

उनके ऐसे बयान से हरियाणा के सभी छात्र, अभिभावक और अधयापकों में रोष भरा पड़ा है। जिसके चलते वे आने वाले चुनावों में प्रकट करने की ताकत रखते हैं।

मुख्यमंत्री और शिक्षामंत्री स्कूल संचालकों को तो बातचीत करने के लिए समय प्रदान करके उनकी सभी मांगों को मान लेते हैं, जबकि उनके पास अभिभावक संगठनों से बातचीत करने के लिए जरा भी समय नहीं है।

अभिभावक इस सरकार से अपने आप को ठगा हुआ महसूस कर रहे है,  मंच ने इस सरकार के नकारात्मक रूख की जानकारी राज्य के प्रत्येक जिले के अभिभावकों को देने का निर्णय लिया है।

इसके लिए प्रत्येक जिले में गोश्ठी सम्मेलन अभिभावक जागरण अभियान चलाया जायेगा, जिसकी रूप रेखा तय करने के लिए सीएम सिटी करनाल में 15 अप्रेल को सभी जिलों के अभिभावक संगठनों की एक बैठक बुलाई गई है।

More articles

Latest article

कोरोना काल में महंगाई से परेशान हैं तो आप भी सीख ले ये बागवानी का तरीका 

Yuva Haryana News Yamunanagar , 23 September , 2020 "कौन कहता है कि आसमान में छेद नहीं होता एक पत्थर तो तबीयत से उछालो यारों"  ये कहावत...

Drugs Case:  जाल में फंसी कई बॉलीवुड हस्तियां, दीपिका पादुकोण समेत जानिए कौन है वो 8 सितारे

Yuva Haryana News Chandigarh , 23 September , 2020 सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद लगातर केस की जांच की जा रही है। सुशांत सिंह राजपूत की मौत का...

भारत में लॉन्च हुआ Moto E7 Plus, कीमत 10 हजार से भी कम 

Yuva Haryana News Chandigarh , 23 September , 2020 Motorola ने भारत में अपना नया स्मार्टफोन मोटो E7 Plus लॉन्च कर दिया है। इसमें काफी Features है जिनको देखकर...

झज्जर-नारनौल के लोगों को मिलने जा रही है ये सौगात, रेल लाइन की तैयारी

Yuva Haryana News Chandigarh, 23 September , 2020 हरियाणा में रेले नेटवर्क का विस्‍तार होने जा रहा हैं। हरियाणा में कई ऐसे रेल नेटवर्क है जिनको...

संदिग्ध हालतों में मिला था सेना के जवान का शव, अब पुलिस ने पत्नी के खिलाफ किया मामला दर्ज

Yuva Haryana News Rewari, 23 September, 2020 रेवाड़ी के गांव जाट सायरवास में पांच जिन पहले एक जवान की संदिग्ध मौत मामले मे पुलिस ने आज...