ट्रैन की टिकट से जुड़ी कुछ गाइडलाइन ,जो बचाएंगी आपके पैसे

Breaking चर्चा में दुनिया देश बड़ी ख़बरें हरियाणा हरियाणा विशेष

अगर आप ट्रैन में सफर करते है तो  कुछ टिकट की गाइडलाइन है जो कैंसिल करने और बुक करवाने में काम आयेंगी और यह रेलवे की तरफ से गाइडलाइन भी है।
जिसके बारे में जानना आपका बेहद जरुरी है।
रेलवे की गाइडलाइन के तहत,अगर आप टिकट बुक कराने के बाद तुरंत कैंसिल कराते है तो पूरे पैसे वापस करने का कोई प्रावधान नहीं है। और अगर आप ट्रेन चलने के समय से 48 घंटे पहले टिकट बुक कराकर कैंसिल कराते हैं तो फिर भी आपको मिनिमम चार्ज रेलवे विभाग को देना होगा।

”टिकट बुक कराने के बाद यदि उपभोक्ता तुरंत टिकट कैंसिल कराता है तो उसे मिनिमम चार्ज लिया जाता है। बुक टिकट को कैंसिल कराकर टिकट के पूरे रुपए वापस करने का का कोई प्रावधान नहीं है। उपभोक्ता सोचते हैं कि उन्हें पूरे रुपए वापस मिलेंगे।”ऐसा कहना है सत्यपाल,सीआरएस,करनाल का।

वेटिंग टिकट को 48 घंटे कैंसिल कराने पर 60 रुपए और कं फर्म टिकट को कैंसिल कराने पर 120 रुपए चार्ज देना होगा।
लेकिन देखने में आया है कि इसइ लेकर बहुत ही काम यात्रियों को पता है क्यूंकि टिकट बुक करवाने के बाद जब वह कैंसिल करवाते है तो अक्सर काउंटर पर झगड़ते नज़र आते है। अगर ट्रेन चलने में 48 घंटे बाकी हैं और आप टिकट कैंसिल कराते हैं तो आपसे 25 प्रतिशत की कटौती की जाएगी और यदि 48 घंटे से कम का समय रह गया तो टिकट के आधे हुए ही आपकों वापस मिलेंगे।

एक्सप्रेस व सुपरफास्ट ट्रेन में सफर करने वाले यात्री  अगर ट्रेन चलने से चार घंटे पहले टिकट कैंसिल कराते हैं तो सारे रुपए जब्त हो जाएंगें। क्योंकि चार घंटे पहले ही ट्रेन का चार्ट बनकर तैयार हो जाता है। इस कारण रेलवे विभाग उपभोक्ता को टिकट कैंसिल कराने पर एक रुपया भी वापस नहीं करता।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *