ओला और उबर टैक्सी चलाने के इच्छुक व्यक्तियों के लिए बनाते थे फर्जी ड्राइविंग लाइसेंस, सरगना सहित दो गिरफ्तार

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें सरकार-प्रशासन हरियाणा हरियाणा विशेष

Yuva Haryana,

Gurugram, 03 Feb,2019

गुरुग्राम पुलिस ने फर्जी ड्राइविंग लाइसेंस बनाने वाले एक गिरोह का पर्दाफाश करते हुए एक शख्स को अलवर राजस्थान के गांव बीबीपुर से गिरफ्तार किया है। जब मामले की तफ्तीश शुरू की तो पुलिस ने भी यह नही सोचा था कि जिसे उसने गिरफ्तार किया है वो अभी तक सैकड़ो फर्जी ड्राइविंग लाइसेंस बना कर लोगो से ठगी की वारदात को अंजाम दे चुका है।

दरअसल क्राइम ब्रांच पालम विहार को काफी लंबे समय से फर्जी लाइसेंस बनाने संबधी शिकायते लगातार मिल रही थी। जिस पर कारवाई करते हुए पुलिस ने ताऊ देवीलाल स्टेडियम के पास से सुंडका मेवात निवासी जलालुद्दीन को गिरफ्तार किया। जिसके पास से दर्जनों फर्जी ड्राइविंग लाइसेंस बरमाद किये। पुलिस पूछताछ में कई अहम खुलासे आरोपी जलालुद्दीन ने किए जिसके बाद कि गयी तफ़्तीश में एक एक करके सभी चीज़ों से पर्दा उठता चला गया।

वहीं पुलिस ने जलालुद्दीन की निशानदेही पर इस फर्जीवाड़े के सरगना सुड़का निवासी अकरम को भी गिरफ्तार कर पूरे फर्जीवाड़े का खुलासा कर दिया। पुलिस के अनुसार मास्टरमाइंड अकरम 2 से 5 हज़ार में फर्जी ड्राइविंग लाइसेंस बना कर लोगो को देता था। जिसमें खास कर ओला और उबर के टैक्सी चालक होते थे।

पुलिस के अनुसार ये गिरोह मुख्यतया UBER और OLA कंपनी में ड्राइवर लगवाते थे और जिनके पास ड्राइविंग लाइसेंस नही होता था उनको फर्ज़ी लाइसेंस उपलब्ध कराते थे। जो व्यक्ति लोगो को ड्राइवर लगवाते थे वो लोग ही अकरम गैंग से संपर्क करके उनको लाइसेंस दिलवाते थे।

बहरहाल पुलिस ने दोनों को गिरफ्तार कर उनके खिलाफ विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज कर मामले की तफ्तीश शुरू कर दी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *