गुरूग्राम में डॉक्टर पर कैंसर के मरीज को खून चढ़ाने के नाम पर 5000 रुपये की रिश्वत लेने का आरोप

बड़ी ख़बरें हरियाणा

गरुग्राम के सेक्टर 10 के नागरिक हस्पताल में शर्मसार कर देने वाला मामला सामने आया है, जहाँ देश की सेवा में जान कुर्बान कर देने वाले रिटायर्ड फौजी से खून चढ़ाने के नाम पर 5000 हजार रुपये की रिशवत मांगी गई और जब रिश्वत के पैसे नही दिए गए तो उसे देर रात हस्पताल से डिस्चार्ज कर दिया गया

बता दें कि बिजवासन के रहने वाले लगभग 75 वर्षीय रिटायर्ड फौजी तेजराम पिछले काफी समय से कैंसर की बीमारी से लड़ रहे थे उन्हें बार बार खून चढवाने के लिए हस्पताल जाना पड़ता था। इसी तरह तेजराम को गरुग्राम में सेक्टर 10 स्थित नागरिक हस्पताल में भर्ती कराया गया और डॉक्टर ने ब्लड लाने की मांग की। किसी तरह बुजुर्ग फौजी के परिजनों ने एक यूनिट खून का भी इंतजाम कर लिया, लेकिन जब हस्पताल पहुंचे तो वहां डयूटी पर तैनात डॉक्टर महिपाल ने रात हो जाने की वजह से खून चढाने से मना कर दिया। परिजनों द्वारा बार बार कहने के बाद उनसे 5000 हजार रुपये रिश्वत के मांग की गई ताकि खून चढ़ाया जा सके।

रिश्वत ना देने पर परिजनों से बदसलूकी बल्कि न्यूज़ कवर करने पहुचे मीडिया कर्मियों से भी बुरा व्यवहार किया गया। साथ ही डॉक्टर ने यह धमकी देते हुए कहा कि “नही चढाता खून, चाहे स्वास्थय मंत्री को फ़ोन लगालो” मैंने तुम्हे एडमिट नहीं किया, जिसने किया है वो खून चढाएगा। बता दें कि गुरूग्राम के हस्पताल काफी समय से इलाज और मरीजों से बुरे व्यवहार को लेकर चर्चा में रहें है। मेदांता हो या एसियन हस्पताल ईलाज में कमी और मरीजों से बिल को लेकर सरकार से फटकार खा चुके है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *