नार्थ ईस्ट की युवती को थर्ड डिग्री देने का आरोप, चार पुलिसकर्मियों को किया गया लाइन हाजिर

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें सरकार-प्रशासन हरियाणा हरियाणा विशेष
Manu Mehta, Yuva Haryana
Gurugram, 5 September 2019 
राजधानी दिल्ली से सटे साईबर सिटी गुरुग्राम में एक नॉर्थ ईस्ट की महिला को पुलिस थाने में थर्ड डिग्री टॉर्चर देने के आरोप में गुरुग्राम पुलिस कमिशनर ने थाने के एसएचओ समेत चार पुलिस कर्मियों को लाइन हाजिर कर दिया है। दरअसल चोरी के मामले में नॉर्थ ईस्ट की रहने वाली एक महिला मेड को पुलिस ने हिरासत में लिया। जिसके बाद उसे कथित तौर पर पुलिस थाने में थर्ड डिग्री टॉर्चर दिया गया। इसी के चलते नॉर्थ ईस्ट के लोगोंं के लिए बनाई गई एनजीओ के विरोध के बाद पुलिस ने ये कार्यवाई की है और पूरे मामले के लिए विभागीय जांच के आदेश दे दिए हैं।

पुलिस वालों पर आरोप है कि नॉर्थ ईस्ट की रहने वाली एक मेड को चोरी के शक में हिरासत में लिया गया और फिर थाने में उसको निवस्त्र कर बुरी तरह पीटा गया। लेकिन जब चोरी का कोई सुबूत नहीं मिला तो उसे छ़ोड़ दिया गया। शिकायत के बाद पुलिस कमिशनर ने विभागीय जांच के आदेश देते हुए थाने के एसएचओ सवित और एक कॉन्सटेबल अनिल को लाइन हाजिर कर दिया गया जबकि दो महिला पुलिसकर्मी मधुबाला और कविता को सस्पेंड कर दिया गया है।

दरअसल डीएलएफ फेस वन के एच ब्लॉक में एक मकान में नॉर्थ ईस्ट की रहने वाली एक 30 वर्षीय महिला मेड के तौर पर काम करती है। उसी मकान में तीन तारीख को कैश और जूलरी की चोरी हुई थी। जिस पर पुलिस ने मकान मालिक द्वारा शक जताए जाने पर घर में काम करने वाले तीन नौकरो को पुलिस ने हिरासत में लिया और पूछताछ की गई। जब पीडिता के खिलाफ पुलिस को चोरी का कोई सुबूत नहीं मिला तो पुलिस ने उसे छोड दिया। पीडिता ने आरोप लगाया कि उसे थाने में थर्ड डिग्री टॉर्चर दिया गया और उसको निवस्त्र करके पीटा गया।

जब पुलिस ने पीडिता को सुबूत ना मिलने के बाद छोड़ा तो मामला नॉर्थ इस्ट के लोगों के लिए दिल्ली में बनाई गई हेल्पलाइन में संपर्क किय। जिसके बाद हेल्पलाइन के लोगों ने गुरुग्राम में आकर पुलिस कमिशनर को मामले की शिकायत की। बाद में पुलिस कमिशनर ने नॉर्थ ईस्ट की पीड़िता से शिकायत लेने के बाद डीएलएफ फेस वन थाने के पुलिस कर्मियों पर एक्शन लिया। जानकारी के अनुसार पुलिस का कहना है कि दो पुलिस कर्मियों को सस्पेंड किया गया है जबकि दो को लाइन हाजिर कर दिया गया है। लाइन हाजिर किए गए पुलिसकर्मियों में थाने के एसएचओ सवित भी शामिल है। पुलिस का कहना है कि चारों पुलिस कर्मियों के खिलाफ विभागीय जांच के भी आदेश दे दिए गए हैं ।
फिलहाल पीड़िता को इलाज के लिए गुरुग्राम के सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। वहीं परिजनो का आरोप है कि ये सब बड़े पुलिस वालों के इशारे पर हुआ है इसीलिए बड़े अधिकारियों पर भी कार्यवाई की जानी चाहिए। फिलहाल पुलिस ने मामले को बढता देख चार पुलिस वालों पर एक्शन तो ले लिया है। लेकिन देखना होगा कि पुलिस पूरे मामले में आगे क्या कार्यवाई करती है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *