अमेरिका में सम्मानित होंगे अंबाला के गुरविंदर सिंह, काम जानकर हर सिख को होगा गर्व

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें हरियाणा हरियाणा विशेष

Anil kumar, Yuva Haryana
Ambala,7 Jan 2019

अंबाला के एक छोटे से गांव अधोई से न्यूयार्क गये गुरिंदर सिंह खालसा के कारण विश्व में सिख समाज का सिर गर्व से ऊंचा हो गया है। गुरिंदर सिंह खालसा जोकि मूल रुप से उपमंडल बराड़ा के गांव अधोई के रहने वाले हैं।  18 जनवरी, 2019 को संयुक्त राज्य अमेरिका के इंडियाना राज्य में आयोजित विविधता पुरस्कार डिनर में  रोजा पार्क ट्रेलब्लेज़र पुरस्कार” से गुरिंदर सिंह खालसा को नवाजा जाएगा।  यह पुरस्कार भारतीय अल्पसंख्यक व्यापार पत्रिका ( IMBM)  द्वारा आयोजित किया जाएगा।

दरअसल गुरविन्द्र सिंह को  2007 में न्यूयॉर्क के बफेलो नियाग्रा अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर एक  टीएसए सिक्योरिटी एजेंसी द्वारा पगड़ी को उतार कर चैंकिग ब्लैट पर रखने को कहा था, लेकिन गुरविंदर सिंह ने इसे पगड़ी का अपमान बताते हुए पगड़ी को उतार कर चैकिंग ब्लैट पर रखने से मना कर दिया । जिसके बाद उन्होंने उस हवाई यात्रा को छोड़ दिया। इसके बाद श्री खालसा इस मुद्दे को अमेरिकी कांग्रेस में लेकर गये। आखिकार परिवहन सुरक्षा प्रशासन को पगड़ी पर अपनी नीति में बदलाव करना पड़ा।

लेकिन पगड़ी के मान की खातिर उन्होंने एक हस्ताक्षर अभियान चलाकर टीएसए की इस निति को बदलने की मुहीम शुरू की । नीति बदलने के लिए 20 हजार हस्ताक्षर करने थे, लेकिन उन्होंने 67 हजार हस्ताक्षर एकत्रित कर लिए ।  जिसके बाद अब सिख युवकों को एयरपोर्ट पर  चेकिंग के दौरान पगड़ी नहीं उतारनी पड़ती।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *