Home Breaking हरी चुनरी चौपाल में रंग बिरंगी चुनरियों में पहुंचीं महिलाएं, नैना चौटाला ने लिया ये बड़ा फैसला

हरी चुनरी चौपाल में रंग बिरंगी चुनरियों में पहुंचीं महिलाएं, नैना चौटाला ने लिया ये बड़ा फैसला

0
0Shares

Yuva Haryana

Chandigarh, 11 March, 2019

लोकसभा चुनावों की घोषणा के अगले ही दिन जननायक जनता पार्टी ने हजारों महिलाओं की रैली कर अपनी जमीनी ताकत दिखाई। अहीरवाल क्षेत्र में सोमवार को आयोजित हरी चुनरी चौपाल का जलवा रहा। डबवाली की विधायक नैना सिंह चौटाला को देखने और उन्हें सुनने के लिए हजारों की संख्या में आज गांव पालड़ी में महिलाएं पहुंची।
नैना चौटाला ने कहा कि लोकसभा चुनावों की घोषणा हो चुकी है और जेजेपी लोकसभा चुनावों के लिए पूरी तरह तैयार है। कार्यकर्ता अभी लोकसभा चुनावों में जीत दर्ज करने के लिए दिन-रात मेहनत करें, निश्चित रूप से हमें सफलता मिलेगी। प्रदेश की सभी 10 लोकसभा सीटों पर हम विजयी होंगे। उन्होंने कहा कि इन चुनावों में महिलाओं की अहम भूमिका होगी। प्रदेश में 50 प्रतिशत महिला मतदाता हैं और वे सत्ता का रूख बदलने में सक्षम हैं। उन्होंने कहा कि महिलाएं अपनी ताकत को पहचानें और राजनीति में अपनी सक्रिय भागीदारी सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि वह भी एक आम गृहणी थी पर पारिवारिक हालातों के चलते उन्हें राजनीति में आना पड़ा। उन्होंने उपस्थित महिलाओं का उत्साहवर्धन करते हुए अपने विधानसभा के पहले दिन का अनुभव सांझा किया और बताया कि पहले दिन सदन में अपना भाषण के दौरान उन्हें काफी असहजता महसूस हुई थी और बाद में धीरे-धीरे व भाषण देने की अभस्त हो गई। महिलाएं जब तक चुल्हे-चौकी से निकल कर शिक्षित व जागरूक नहीं होंगी तब तक हमारा प्रदेश उन्नति नहीं कर सकता।
डबवाली की विधायक कार्यक्रम में हरी, पीली, लाल, गुलाबी रंग की चुनरी ओढ़ी इतनी बड़ी संख्या में महिलाओं को देख कर बोली की उनका मन हरी चुनरी की चौपाल का नाम बदलने का है। अभी तक प्रदेश में 31 हरी चुनरी की चौपाल हुई हैं और 51 वीं चौपाल का नाम रंग-बिरंगी चौपाल रखेंगे।
हरी चुनरी की चौपाल में महिलाओं की उमड़ी भारी भीड़ से गदगद नैना चौटाला ने कहा कि महिलाओं की शिक्षा,स्वास्थ्य और सुरक्षा की भाजपा सरकार लगातार अनदेखी कर रही है। महिलाओं की समस्याओं के समाधान के लिए कांग्रेस ने अपने 10 वर्ष के शासनकाल में कुछ नहीं किया और साढ़े चार वर्षों से भाजपा भी उसी राह पर चल रही है।
कार्यक्रम में उमड़ी हजारों महिलाओं को देखकर नैना चौटाला ने कहा कि इस बार महेंद्रगढ़ हलके की महिलाएं बदलाव लाने के मूड में हैं और भाजपा की चोटी में पसीना ला देंगी।  उन्होंने प्रदेश सरकार को कठघरे में खड़ा करते हुए कहा कि 6 माह से लेकर 70 साल की महिला सुरक्षित नहीं है। प्रदेश के अलग-अलग हिस्सों में आए दिन बच्चियों-महिलाओं के अपहरण और बलात्कार की घटनाएं सुर्खियां बन रही हैं। लड़कियों के पढऩे के लिए प्रयाप्त संख्या में शिक्षण संस्थान नहीं हैं और कन्या स्कूलों को अपग्रेड नहीं किया गया। सरकारी अस्पतालों में महिला डाक्टरों की भारी कमी है, पर्याप्त दवाईयां और जांच की सुविधाएं नहीं हैं। उन्होंने कांग्रेस व भाजपा को चुनावों में सबक सीखाने का आह्वान करते हुए कहा कि इस बार दुष्यंत चौटाला को प्रदेश का मुख्यमंत्री बनाएं।
उन्होंने कहा कि जेजेपी की सरकार महिलाओं की सक्रिय भागीदारी होगी और उनकी भलाई करने वाली सरकार होगी। उन्होंने वायदा किया कि सत्ता में आने पर महिलाओं के हितों की पैरवी में वकील बन कर कंरूूगी।
नैना चौटाला ने कहा कि अहीरवाल में पीने की पानी की समस्या से छुटकारा दिलवाने के लिए हर गांव कें आरओ सिस्टम लगाए जाएंगे। सरकारी अस्पतालों में महिला डाक्टरों की नियुक्ति के साथ साथ चिकित्सा जांच की सारी उपलब्ध करवाई जाएंगी। किसान, मजबूर, कमेरे वर्ग के कर्जे माफ होंगे। घर बैठे बुजूर्गों को प्रति माह तीन हजार रूपये पेंशन दी जाएगी और पेंशन के लिए महिलाओं की न्यूनतम आयु 60 वर्ष से कम करके 55 वर्ष व पुरूषों के लिए आयु 58 वर्ष की जाएगी। सरकारी कर्मचारियों की पुरानी पेंशन योजना बहाल की जाएगी और सरकारी स्कूलों में शिक्षकों के खाली पदों को भर कर दिल्ली की तर्ज पर बेहतरीन शिक्षा व्यवस्था की जाएगी।
बाद में पत्रकारों के सवालों का जवाब देते हुए नैना चौटाला ने गठबंधन को लेकर पार्टी ने तीन सदस्यीय कमेटी का गठन किया हुआ है और वही अंतिम फैसला लेगी। लोकसभा चुनाव लडऩे बारे नैना चौटाला ने कहा कि पार्टी जो आदेश देगी, वह उस आदेश को मानेंगी। उन्होंनेा कहा कि जेजेपी में टिकट बांटने अथवा अन्य कोई भी फैसला व्यक्ति विशेष द्वारा नहीं लिया जाता बल्कि सामूहिक रूप से कमेटी विचार विमर्श के बाद ही कोई निर्णय लेती है, और वही मान्य होता है।
Load More Related Articles
Load More By Yuva Haryana
Load More In Breaking

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

बैंक कर्मचारी ने कर दी पत्नी की निर्मम हत्या, चार दिन बाद साले फोन कर कहा- अपनी बहन की लाश ले जाओ..

Yuva Haryana, Chandigarh जनपद में एक…