4 सितम्बर को प्रदेश के फार्मासिस्ट नारनौंद में करेंगे विरोध प्रदर्शन

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें सरकार-प्रशासन हरियाणा हरियाणा विशेष

Yuva Haryana

Chandigarh, 1 September, 2019 

 

प्रदेश के फार्मासिस्ट वर्ग का आंदोलन आज सातंवे दिन में प्रवेश कर गया है। सरकार द्वारा जनता की त्राहि त्राहि के बावजूद फार्मासिस्ट वर्ग की मांग न पूरा करना सरकार की उदासीनता दिखाता है और स्पष्ट है कि जनता की परेशानी से सरकार को सरोकार नहीं है।

एसोसिएशन गवर्नमेंट फार्मासिस्ट ऑफ हरियाणा के राज्य प्रधान विनोद दलाल व हरियाणा फार्मासिस्ट एसोसिएशन जो प्राइवेट फार्मासिस्ट संगठन है, के राज्य महासचिव नंद किशोर ने सयुंक्त व्यक्तव्य में कहा कि अगर सरकार फार्मासिस्ट वर्ग 4600/ ग्रेड पे की मांग जल्द पूरी नहीं करती है तो आगामी 4 सितम्बर को पूरे प्रदेश के हजारों फार्मासिस्ट वित्त मंत्री के विधानसभा क्षेत्र नारनौंद में इक्कठे होकर रोष प्रदर्शन व मार्च करेंगे और प्रदेश के 40000 रजिस्टर्ड फार्मासिस्ट मिलकर सरकार के खिलाफ रोष जताएंगे और विधानसभा चुनावों का बहिष्कार करेंगे ।

उन्होंने कहा कि माननीय मुख्यमंत्री व स्वास्थ्य मंत्री की स्वीकृति के बावजूद वित्त विभाग फार्मासिस्ट वर्ग की मांग को पूरा नहीं कर रहा है। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य विभाग के सबसे सभ्य वर्ग फार्मासिस्ट की अवहेलना करके उन्हें आंदोलन पर मजबूर कर दिया है ।

गौरतलब है फार्मासिस्ट वर्ग गत 6 अगस्त से अपना रोष प्रदर्शन कर अपनी मांग को बुलंद किये हुए है पर विडंबना ही है कि सरकार की तरफ से कोई भी ठोस आश्वासन अभी तक नहीं मिला। उनकी मुख्य मांग 4600 ग्रेड पे की है क्योंकि यह वर्ग संस्था की रीढ़ है, सबसे ज्यादा कार्य का निर्वाहन करता है। इसके बावजूद पीछे धकेल दिया है। जिससे इस वर्ग का सम्मानहरण हुआ है और इस सम्मान की लड़ाई पूरा हरियाणा का फार्मासिस्ट वर्ग लड़ रहा है l

हस्पतालो में या तो मरीज बिना दवा ही लौट रहे है या गलत दवाइयां लेकर। एम टी पी किट जो एक तय समय सीमा में लेनी होती है एवं सिर्फ सरकारी हस्पतालों में ही उपलब्ध होती है और मरीज का सारा रिकॉर्ड रखकर फार्मासिस्ट द्धारा दी जाती है ,नहीं मिल पा रही है। एंटी रेबीज इंजेक्शन जो कुत्ते या जानवर के काटने पर लगते है ,बाजार में उपलब्ध नहीं है ,फार्मासिस्टों की हड़ताल के चलते मरीजों को नहीं लग रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *