खुशखबरी- हरियाणा कृषि यूनिवर्सिटी ने उगाया ऐसा शिटाके मशरूम जो लड़ेगा कैंसर और एड्स से

Breaking खेत-खलिहान चर्चा में दुनिया बड़ी ख़बरें रोजगार सरकार-प्रशासन हरियाणा हरियाणा विशेष

Shweta Kushwaha, Yuva Haryana

Hisar, 1 May, 2018

कभी पिछड़ा कहे जाने वाला हरियाणा, अब हर क्षेत्र में सबसे आगे बढ़ता नजर आ रहा है। चाहे खेल हो, खेती हो, खुबसूरती या फिर विज्ञान से जुड़ी चीजे हो।

अब फिर प्रदेश वाह- वाही लूटता दिख रहा है, क्योंकि HAU (हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय) के विशेषज्ञों ने मशरूम की एक ऐसी प्रजाति उगाई है जो कि कैंसर और एड्स जैसी गंभीर बीमारियों से लड़ेगी।

HAU और हरियाणा के किसानों ने इस शिटाके मशरूम का सस्ता उत्पादन शुरू किया है, जो कि लोगों के लिए काफी लाभदायक साबित होगा। ये मशरूम कैंसर की दवा लैंटिनन का मुख्य स्रोत है।

खास बात ये है कि शिटाके रिच एंटीऑक्सीडेंट का स्रोत होने के कारण ये शरीर की प्रतिरोधक क्षमता भी बढ़ाता है। जिससे एड्स और कैंसर जैसी बीमारियों को रोकने में मदद मिलती है।

HAU ने इस मसरूम का उत्पादन सस्ती और आसान तकनीक से इसलिए बनाया है, ताकि किसान कम आय में भी इसका उत्पादन कर अच्छी कमाई कर सकें।

आम तौर पर ये शिटाके मशरूम 6 से 9 महाने में तैयार होता है, जिसे HAU विज्ञानिकों ने सिर्फ 90 दिनों में आसन तरीके से तैयार किया है।

बता दें कि इस मशरूम की काफी डिमांड है। जिसे हिमाचल पूरी कर रहा है, क्योंकि ये मशरूम ठंडे इलाकों में पैदा होती है। हरियाणा में किसान सर्दियों में इसे लगा सकते हैं।

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *