स्वच्छता के क्षेत्र में हरियाणा ने सारे राज्यों को पछाड़ा, राज्य को मिला सर्वोच्च पुरस्कार

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें सरकार-प्रशासन हरियाणा हरियाणा विशेष

Yuva Haryana
Chandigarh, 02 Oct, 2018

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने स्वच्छता क्षेत्र में उत्कृष्ट उपलब्धियों के लिए हरियाणा राज्य को सर्वोच्च राज्य का पुरस्कार प्रदान किया। नई दिल्ली में राष्ट्रपति भवन के सांस्कृतिक केंद्र में पेयजल एव स्वच्छता मंत्रालय द्वारा आयोजित ‘स्वच्छ सर्वेक्षण ग्रामीण-2018’ के पुरस्कार वितरण समारोह में स्वच्छता के क्षेत्र में उत्कृष्ट उपलब्धियों के लिए केंद्र द्वारा हरियाणा राज्य को सर्वोच्च राज्य का पुरस्कार प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने प्राप्त किया। ‘स्वच्छ सर्वेक्षण ग्रामीण-2018’ के अंतर्गत स्वच्छता के क्षेत्र में देश में सर्वोच्च स्थान के पुरस्कार प्राप्त करने वाले देश के छह जिलों में हरियाणा के तीन जिले–गुरूग्राम, करनाल व रेवाडी भी शामिल रहे। नई दिल्ली में प्रवासी भारतीय केंद्र में आयोजित समारोह में केंद्रीय पेयजल व स्वच्छता मंत्री उमा भारती ने हरियाणा के उक्त तीन जिलों को सर्वोच्च जिला श्रेणी के पुरस्कार प्रदान किए।

हरियाणा के मुख्यमंत्री ने स्वच्छता श्रेत्र में हरियाणा राज्य को केंद्र द्वारा सर्वोच्च राज्य का पुरस्कार प्रदान किए जाने पर हरियाणा की जनता को बधाई देते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के स्वच्छता अभियान के आह्वान को हरियाणा की जनता द्वारा जन आंदोलन का रूप दिए जाने के परिणामस्वरूप स्वच्छता के क्षेत्र में हरियाणा प्रदेश को आज सर्वोच्च राज्य का स्थान मिल सका है। राष्ट्रपति भवन में आयोजित ‘स्वच्छ सर्वेक्षण ग्रामीण-2018’ के पुरस्कार वितरण समारोह में हरियाणा के कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री ओम प्रकाश धनखड भी शामिल रहे।

उल्लेखनीय है कि स्वच्छ भारत मिशन के अंतर्गत हरियाणा राज्य के सभी ग्रामीण क्षेत्र जून,2017 तक ही खुले में शौचमुक्त किए जा चुके हैं। हरियाणा राज्य के सभी शहरी क्षेत्र भी अक्तूबर,2017 तक ही खुले में शौचमुक्त किए जा चुके हैं। खुले में शौचमुक्त से अब और आगे की ओर अग्रसर होने की दिशा में स्वच्छता के क्षेत्र में हरियाणा राज्य मे शहरी व ग्रामीण क्षेत्रों में ठोस व तरल कचरा प्रबंधन की योजनाएं क्रियान्वित की जा रही हैं। वर्ष 2019 तक हरियाणा के सभी गावों में ठोस व तरल कचरा प्रबंधन इकाईयां स्थापित किए जाने का लक्ष्य निर्धारित किया हुआ है। हरियाणा राज्य में 1360 गांवों के लिए स्वीकृत की गई ठोस व तरल कचरा प्रबंधन इकाई परियोजनाओं में से कुल 631 ठोस कचरा प्रबंधन इकाई परियोजनाएं तथा कुल 414 तरल कचरा प्रबंधन इकाई परियोजनाएं पूर्ण की जा चुकी हैं।

हरियाणा राज्य की शहरी ठोस कचरा प्रबंधन योजना के अंतर्गत प्रदेश के सभी शहरी स्थानीय निकायों को 14 कलस्टरों में विभाजित किया गया है। इस दिशा में फरीदाबाद-गुरूग्राम कलस्टर तथा सोनिपत-पानीपत कलस्टर में कार्य भी प्रारंभ भी हो चुका है। हरियाणा राज्य में ‘वेस्ट टू एनर्जी प्लांट ‘ स्थापित किए जाने पर विशेष बल दिया जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *