प्रदेश के दो मंत्रियों की आपसी खटास बजट में भी दिखी

Breaking खेल हरियाणा

सरकार के दो सीनियर मंत्रियों के बीच की खटास कई मोकों पर दिखती रही है। यही तकरार की छाप हरियाणा के बजट पर भी दिखी। इसे चूक कहें या कुछ और, पर 51 पेज के बजट में खेल का जिक्र तक नही किया गया। इसी तरह सहकारिता विभाग को पूरे बजट में कोई जगह नही मिली।

पत्रकारों ने जब वित मंत्री कैप्टन अभिमन्यु से इसके बारे पुछा तो उन्होंने विभागों का बजट बढ़ाकर देने की घोषणा बता दें कि राई खेल स्कूल सहित कई अन्य मसलों पर वित मंत्री और खेल मंत्री अनिल विज के बीच समय-समय पर मतभेद दिखते रहें है। ऐसा पहली बार हुआ है कि खेलकूद और युवा विकास विभाग का जिक्र बजट में नही था।

खेल मंत्री अनिल विज पिछले कई महीनों से दावा करते आ रहे है कि आगामी वित वर्ष के दौरान खेलों के विकास के लिए नई योजनाएं शुरु की जाएंगी। उन्होंने कहा कि इस साल खेलों को बजट में 22 फीसद पैसा ज्यादा दिया जाएगा। पिछले साल जहां खेलों को 347 करोड़ रुपए दिए थे, वहीं इस वर्ष 423 करोड़ रुपए मिलेंगे। इसी तरह सहकारिता विभाग का बजट 27 फीसदी बढ़ाते हुए वित मंत्री 824 करोड़ रुपए देने का ऐलान किया। पिछले साल विभाग को 647 करोड़ रुपए मिले थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *