आज 53वां जन्मदिन मना रहा हरियाणा, देश ही नहीं विदेशों में भी चमका नाम

हरियाणा

Yuva Haryana
@Sonu Sharma

हरियाणा आज अपना 53 वां जन्मदिन मना रहा है। हरियाणा राज्य का जन्म 1 नवम्बर 1966 को हुआ था।इस से पहले हरियाणा पंजाब का हिस्सा था। जिसे 1966 में भारत के 17वें राज्य के रूप में पहचान मिली।हरियाणा की राजधानी चंडीगढ़ है जो कि भारत का सबसे सुंदर शहर माना जाता है।राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली हरियाणा से तीन ओर से घिरी हुई है।वर्तमान में खाद्यान और दुध उत्पादन में हरियाणा देश में प्रमुख राज्य है।इस राज्य के निवासियों का प्रमुख व्यवसाय कृषि है।1960 के दशक की हरित क्रान्ति में हरियाणा का प्रमुख योगदान रहा जिससे देश खाद्यान संपन हुआ।

हरियाणा भारत के अमीर राज्यों में से एक है और प्रति व्यक्ति आय के आधार पर यह देश का दूसरा सबसे धनी राज्य है।इसके अतिरिक्त भारत में सबसे अधिक ग्रामीण करोड़पति भी इसी राज्य में हैं। हरियाणा आर्थिक रूप से दक्षिण एशिया का सबसे विकसित क्षेत्र है।भारत में हरियाणा यात्री कारों, दो पहिया वाहनों और ट्रैक्टरों के निर्माण में सर्वोपरी राज्य है।भारत में प्रति व्यक्ति निवेश के आधार पर वर्ष 2000 से राज्य सर्वोपरी स्थान पर रहा है।हरियाणा दिन प्रतिदिन अपनी प्रतिभा का लोहा विश्व भर में मनवा रहा है।यह राज्य वैदिक सभ्यता और सिंधु घाटी सभ्यता का मुख्य निवास स्थान रहा है। इस क्षेत्र में विभिन्न निर्णायक लड़ाईयाँ भी हुई हैं।जिसमें भारत का अधिकतर इतिहास समाहित है। इसमें महाभारत का महाकाव्य युद्ध भी शामिल है। महाभारत का युद्ध कुरुक्षेत्र में हुआ (इसमें भगवान कृष्ण ने भागवत गीता का वादन किया)। इसके अलावा यहाँ तीन पानीपत की लड़ाईयाँ हुई।

हरियाणा नाम कैसे पड़ा ?

हरियाणा का शाब्दिक अर्थ “भगवान का निवास” होता है जो संस्कृत शब्द हरि (हिन्दू देवता विष्णु) और अयण (निवास) से मिलकर बना है। मुनीलाल,मुरली चन्द शर्मा,एच॰ए॰ फड़के और सुखदेव सिंह छिब जैसे विद्वानों के अनुसार हरियाणा में शब्द की उत्पति हरि (संस्कृत हरित,हरा) और अरण्य (जंगल) से हुई है।कौरवों और पांडवों के बीच हुआ महाभारत का प्रसिद्ध युद्ध कुरुक्षेत्र नगर के निकट हुआ था। कृष्ण ने अर्जुन को गीता का उपदेश यहीं पर दिया था।

 

खेल के मैदान में हरियाणा

खेलों कि बात हो तो खेलों में हरियाणा का नाम कैसे पीछे रह सकता है।हरियाणा के खिलाडी ना सिर्फ देश में बल्कि विदेशों में भी तिरंगा फहरा चुके है। नवम्बर 1966 को हरियाणा प्रदेश भारत के सत्रहवें राज्य के रूप में मानचित्र पर आया था। पहले से ही सामाजिक पर्वों, उत्सवों व मेलों के अवसरों पर ताकत आजमाने वाले खेलों जैसे कबड्डी, कुश्ती और रस्साकसी आदि खेलों के आयोजन की परम्परा रही है। विश्व स्तर की खेल स्पर्धाओं जैसे एशियाड़, राष्ट्रमंडल तथा ओलम्पिक की खेल प्रतियोगिताओं में भारत के द्वारा जीते गए कुल पदकों में अकेले हरियाणा के खिलाड़ियों लगभग 35 प्रतिशत पदकों पर कब्जा किया है, जिसमें ताकत के खेल माने जाने वाले कुश्ती, कबड्डी और मुक्केबाजी में सर्वाधिक पदक अर्जित किए हैं। पुरातनवादी सोच के कारण लड़कियों को घर की चारदीवारी तक ही सीमित रखा जाता था, अब गीता, बबीता, विनेश, साईना नेहवाल, ममता, रीतू, कृष्णा साक्षी मलिक,दीपा मलिक,रानी रामपाल,मनु भाकर,सोनिया लाठर,सविता पूनिया भी विदेशों में तिरंगा फहरा चुकी हैं।

प्रोफेशनल बॉक्सिंग में विजेन्द्र सिंह अपना दम दिख चुकें है तो योगेश्वर दत्त भी रेस्लिंग में अपना दम दिखा चुके है,इनके अलावा सुशील कुमार,बजरंग पूनिया,,दिनेश कुमार,जगदीश सिंह,मनोज कुमार और विकास यादव पर गर्व से सिर ऊंचा करते हैं। यह बदले हरियाणा की तस्वीर दिखाने के लिए काफी है।खेल उपलब्धियों पर दिए जाने वाले पुरस्कारों पर नजर डालें तो हरियाणा के 50 से अधिक खिलाड़ी अर्जुन पुरस्कार प्राप्त कर चुके हैं। इसके अतिरिक्त अन्य खेल पुरस्कारों जैसे कि ‘राजीव गांधी खेल रत्न’ व सर्वश्रेष्ठ खेल प्रशिक्षक ‘द्रोणाचार्य पुरस्कार’ भी कई खिलाड़ियों ने हासिल किए हैं।

खेलों का जिक्र हो और क्रिकेट कि बात ना हो,क्रिकेट में हरियाणा कैसे किसी से पीछे रह सकता है।1987 विश्व कप जीतने वाले कपिल देव,चेतन शर्मा,पहला टी20 विश्व कप में जीत हासिल करने वाले जोगेन्द्र शर्मा और अन्तरराष्ट्रीय क्रिकेट से अलविदा कहने वाले विरेन्द्र सहवाग भी हरियाणा से ही हैं।अजय रात्रा,अमित मिश्रा,आशिष नेहरा,नितिन सैनी,मनविंद्र बिसला,मोहित शर्मा,यजुवेंद्र चहल भारतीय टीम में शामिल हैं जो कि हरियाणा से ही हैं।

देश के राष्ट्रीय खेल हॉकी में भी हरियाणा के खिलाड़ी किसी से कम नहीं है।हॉकी टीम के कप्तान रहे सरदारा सिंह,जसजीत कौर हांडा,ममता खर्ब,प्रतीम रानी सिवाच,सदींप सिंह सैनी,सीता गुसीन,सुमन बाला,सुरेन्द्र और सविता पूनिया हॉकी में अपना दम दिखा चुकी है।

नेतागिरी में भी हम किसी से कम नहीं

बात देश पर राज करने कि हो तो वहां भी हरियाणा किसी से कम नहीं है।देश के पूर्व उप-प्रधानमंत्री ताऊ देवीलाल,विदेश मंत्री सुषमा स्वराज जो पहले दिल्ली की मुख्यमंत्री भी रह चुकी हैं और 25 साल की कम उम्र में मंत्री बनने का रिकार्ड भी उन्ही के नाम है।पूर्व सेना अध्यक्ष और जनरल वीके सिंह यूपी के गाजियाबाद से सांसद है और मोदी कैबिनेट विदेश राज्य मंत्री हैं।

केंद्रीय इस्पात मंत्री बीरेंदर सिंह और राव इन्द्रजीत सिंह भी मोदी कैबिनेट का हिस्सा है,इनके अलावा हिमाचल के राज्यपाल आचार्य देवव्रत,वहीं हरियाणा के हिसार के रहने वाले जस्टिस सूर्यकांत शर्मा हिमाचल प्रदेश उच्च न्यायालय के मुख्यक न्यायाधीश के तौर पर अपनी सेवाएं दे रहें है,,,,अगर बात हो की जाए जम्मू कश्मीर की तो वहां के राज्यपाल सत्यपाल मलिक और ओडिशा के राज्यपाल प्रो. गणेशी लाल भी हरियाणा में ही जन्मे हैं,,,साथ ही देश के सबसे कम उम्र के सासंद दुष्यंत चौटाला हरियाणा से ही हैं।

दिल्ली में हरियाणा का राज !

एतिहासिक जीत हासिल करने वाली आम आदमी पार्टी के सुप्रीमों और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल हरियाणा के सिवानी से है,,,वहीं सांसद सुशील गुप्ता और दिल्ली विधानसभा में 10 से 15 ऐसे विधायक ऐसे हैं जिन्होनें हरियाणा की धरती पर जन्म लिया या हरियाणा से जुड़े रहे। हरियाणा के पहले मुख्यमंत्री पडिंत भगवत दयाल शर्मा, पूर्व मुख्यमंत्री राव बीरेन्द्र सिंह, पूर्व मुख्यमंत्री बंसीलाल, पूर्व मुख्यमंत्री ओम प्रकाश चौटाला, पूर्व मुख्यमंत्री भजनलाल, पूर्व मुख्यमंत्री भूपेन्द्र सिंह हुडडा,मुख्यमंत्री मनोहर लाल जो पहली बार विधायक बने और पहली ही बार में ही मुख्यमंत्री बने।

विदेशों में भी किया नेतृत्व

पाकिस्तान के पहले प्रधानमंत्री नवाबजादा लियाकत अली खान,फिजी के पूर्व प्रधानमंत्री महेंद्रा चौधरी, पाकिस्तान के पूर्व रक्षामंत्री राव सिकंदर इकबाल, पाकिस्तान क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान इंजमाम उल हक का परिवार भी हांसी का रहने वाला है जो अभी पाकिस्तान में हैं। हाल ही में नार्वे में मंत्री बनी अंजु चौधरी भी हरियाणा से ही है।

विश्व सुंदरी बनी हरियाणा की मानुषी

हरियाणा की रहने वाले मानुषी छिल्लर ने 17 साल के बाद मिस वर्ल्ड का खिताब जीतकर भारत का गौरव बढ़ाया। चीन में आयोजित मिस वर्ल्ड प्रतियोगिता में मानुषी छिल्लर ने मिस वर्ल्ड का खिताब अपने नाम किया।

हिंदुस्तान का GOOGLE BOY हैकौटिल्य

हरियाणा के करनाल जिले के कोहण्ड गांव का रहने वाल करीब 11 साल का बालक कौटिल्य अद्भुत दिमाग का धनी है। कौटिल्य देश-विदेश के भूगोल और सामान्य ज्ञान के बारे में ऐसे बताता है कि बड़ों-बड़ों के छक्के छूट जाएंगे।लेकिन उससे कहीं से कुछ भी पूछ लो,वह उस सवाल का एक दम सटीक जवाब देता है,कौटिल्य की तारीफ देश पूर्व राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम जी ने भी की थी।

बॉलिवुडमें हरियाणा

गंगाजल फिल्म में सुंदर यादव के नाम से प्रसिद् यशपाल शर्मा हरियाणा के हिसार से है।जिन्होने बॉलिवुड की काफी फिल्मों में काम किया है।फिल्म अभिनेत्री जूही चावला,मल्लिका सहरावत,सुनील दत्त,संजय दत्त,जगत जाखड़,जयदीप अहलावत, मनीष जोशी बिसमिल, ओमपुरी, परिणीति चोपड़ा, राजकुमार राव, रणदीप हुडडा, उषा शर्मा, यश टोंक, विजय वर्मा, गजेन्द्र फोगाट और विकास शर्मा भी हरियाणा से है।

वहीं मशहूर गीतकार भाजे भगत, गजेन्द्र वर्मा, गुलाम फरीद साबरी, जसराज पंडित, पंडित लक्ष्मी चंद और जाने माने सिंगर सोनू निगम और ऑस्ट्रेलिया से हरियाणावी रेडियो कसूत चलाने वाले अरुण मलिक भी हरियाणा से ही है जो विदेशों में हरियाणवी बोली को बढ़ावा दे रहे हैं।

 

विदेशो से सिर्फ मैडल ही नहीं,बहुए भी लेकर आ रहे है हरियाणा के छोरे

हरियाणा के गांवों में विदेशी बहुए छाई हुई है,प्यार के आगे हिंदी और अंग्रेजी भी कोई बाधा नहीं बनी बल्कि ये बहुए हिंदी से पहले हरयाणवी बोलने लगी है, जहां हरियाणा देश का सबसे कम लिंगानुपात यानी कि प्रति 1000 मर्दों के पीछे करीब 947 महिलाओं वाला राज्य माना जाता था, वहीं न्यूयॉर्क के बाल्टीमोर में आज काले रंग की महिला मेयर बनी हुई है। लेकिन इन सब बातों के बावजूद बाल्टीमोर की 33 वर्षीय लड़की चानिता डोविल रोबसन को करनाल के कछवा गांव के 23 वर्षीय कम्प्यूटर इंजीनियर प्रवीण धनखड़ से शादी करने से कोई नहीं रोक सका,,,वहीं जींद के गांव छातर के राष्ट्रीय कबड्डी टीम के खिलाड़ी राजू पहलवान ने भी कैलीफोर्निया की 35 वर्षीय जूना पोलाइन्स से शादी की है,,,,राजू पहलवान ने बताया मेरी 55 वर्षीय मां आज तक अपने सिर से दुपट्टा नीचे नहीं आने देती, लेकिन मेरी पत्नी तो एक अन्य समाज में से आई है जहां कोई पर्दा नहीं करता।

धरती से आसमानतक हरियाणा

हरियाणा की बेटी कल्पना चावला का नाम कौन भूल सकता है। जिसने तिरंगे को न सिर्फ जमीन पर बल्कि आसमान में भी फहरा कर अपने देश का नाम रोशन कर दिया। जिससे ये पता चलता है कि हरियाणा की बेटियां भी किसी से कम नहीं हैं। वहीं हरियाणा की बेटी संतोष यादव भी माउंट एवरेस्ट पर तिंरगा फहरा चुकी हैं, वहीं हिसार जिले की अनीता कुंडू, हरियाणा की ही बेटियां फोगाट बहनों पर भी फिल्म बन चुकी है।

कामयाब कारोबारी

नवीन जिंदल, सुभाष चन्द्रा, सजन जिंदल, चेती लाल वर्मा, कैप्टन अभिमन्यु, समीर गुलाटी और बाबा रामदेव जैसे सफल बिजनेसमैन भी हरियाणा से ही है। जो कि काफी लोगों को रोजगार मुहैया करा रहे हैं।

 

बॉर्डर पर हरियाणा

जब बात देश कि रक्षा करने की हो तो हमारे हरियाणा के जवान यहां भी किसी से कम नहीं हैं। सेना में हर दसवां जवान हरियाणा से है।कारगिल युद्ध में भी हरियाणा अपना दम दिखा चुका है। सेना प्रमुख जनरल वीके सिंह के रिटायर होने के बाद हरियाणा में ही जन्मे सेना अध्यक्ष जनरल दलबीर सिंह सुहाग भी देश को अपनी सेवाएं दे चुके हैं साथ ही भारतीय नौसेना के नौसेना स्टाफ के 23 वें प्रमुख हैं सुनील लांबा का जन्म 17 जुलाई 1957 को हरियाणा के पलवल जिले में हुआ था।

( लेखक: सोनू शर्मा इलेक्ट्रॉनिक मीडिया में एक युवा पत्रकार हैं और हरियाणा के हिसार जिले के छोटे से गांव भाटोल के रहने वाले हैं। सोनू शर्मा ने 2014 में दिल्ली से पत्रकारिता की पढ़ाई की। सहारा समय नेशनल से इंटर्नशिप करने के बाद कई न्यूज़ चैनलों में कार्य किया जिनमें से STV हरियाणा न्यूज, ख़बरें अभी तक, ख़बर फास्ट, ओके इंडिया, सिटीजन वॉइस और फिलहाल इंडिया न्यूज में कार्यरत हैं। इसके अलावा सोनू शर्मा समय-समय पर कई अखबारों में लेख और ब्लॉग लिखते रहते है )

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *