हरियाणा और पंजाब सरकार मिलकर लड़ेगी एक नई जंग,नशे को जड़ से मिटाना होगा मकसद

Breaking चर्चा में देश बड़ी ख़बरें सरकार-प्रशासन हरियाणा हरियाणा विशेष

आपने हमेशा पंजाब हरियाणा को पानी व अन्य कई मसलों पर टकराते हुए देखा है। लेकिन अब एक मसले को लेकर दोनों ही राज्य एक हो चुके हैं। हरियाणा और पंजाब सरकार पंजाब में नशे को लेकर अब एक साथ जंग लड़ेंगे। साथ ही युवाओं को लेकर कुछ नए कार्यक्रम बनाने के लिए विचार किया जा रहा है।

ड्रग तस्करों का नेटवर्क तोड़ने के लिए पिछले दिनों पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने हरियाणा के सीएम मनोहर लाल को चिट्ठी लिखी थी और मदद मांगी थी। कैप्टन की चिठ्ठी का जवाब देते हुए  मनोहर लाल ने लिखा कि ‘जब भी पंजाब पुलिस द्वारा कोई सटीक और प्रामाणिक जानकारी साझा की जाती है, तो मैं सख्त और त्वरित कार्रवाई करने का आश्वासन देता हूं।’

मनोहर लाल ने पत्र में लिखा कि हरियाणा सरकार नशीली दवाओं की तस्करी और बिक्री पर प्रभावी ढंग से अंकुश लगाने के लिए दूसरे राज्यों के साथ सहयोग करने के लिए प्रतिबद्ध है।

हरियाणा नशीले पदार्थों का उत्पादक प्रदेश नहीं हैै। हरियाणा पुलिस ने नशीली दवाओं के तस्करों को पकड़ने के लिए जनवरी में विशेष टास्क फोर्स बनाई है, जो एसटीएफ पंजाब समेत पड़ोसी राज्यों के साथ समन्वय से कार्य कर रहा है। सीएम ने साथ ही कैप्टन अमरिंदर को आश्वासन दिया की पंजाब से सभी ड्रग तस्करों और विक्रेताओं को निर्वासित करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *