आरक्षण आंदोलन के दौरान दर्ज हुए 300 से ज्यादा मुकद्दमे वापिस लेने की तैयारी में सरकार

चर्चा में राजनीति सरकार-प्रशासन हरियाणा हरियाणा विशेष

Yuva Haryana

Haryana, 08-04-2108

हरियाणा में जाट आरक्षण आंदोलन के दौरान हुई दर्ज किए गए केस में से  हरियाणा सरकार  कुछ केस को वापस लेने जा रही है।  हरियाणा के गृह विभाग ने हरियाणा के अलग-अलग जजो से जांच करवाकर और उनकी ही सहमति से308 ऐसे मुकद्दमे  वापस लेने के लिए महा अधिवक्ता कार्यालय औ एल.आर. विभाग से कानूनी राय कर के इसपर अमल किया जाएगा।

वहीं गृह विभाग ने पहले चरण में 137 मुकद्दमे, दूसरे चरण में 81 तीसरे चरण में 180 मुकद्दमे न्यायालय से वापस लेने के लिए जिला जज से आग्रह किया है।  7 मामले ऐसे है जिनपर जिला जज ने सीधे रूप से सहमति नहीं की थी।

बता दें कि जाट आरक्षण की आग पूरे हरियाणा में फैली थी। जो जिले सबसे ज्यादा इसकी चपेट में थे  वे गोहाना, भिवानी और रोहतक थे। रोहतक सबसे ज्यादा संवेदनशील जिला भी माना गया था और सबसे ज्यादा हिंसा भी यही हुई थी। वहीं इन 308 केस में सबसे ज्यादा केस इन्हीं जिलों के है। ये केस अब CBI के पास है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *