हरियाणा में लड़कियों को दोपहिया वाहन चलाने और तकनीकी कौशल की देंगे प्रशिक्षण

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें सरकार-प्रशासन हरियाणा हरियाणा विशेष
Sahab Ram, Yuva Haryana
Chandigarh, 15 Nov, 2018
हरियाणा सरकार ने नारी सशक्तिकरण की दिशा में एक कदम और आगे बढ़ाते हुए प्रदेश की लड़कियों को दोपहिया वाहन चलाने व उनके बारे में तकनीकी कौशल की जानकारी देने का निर्णय लिया है। हरियाणा के कौशल विकास एवं औद्योगिक प्रशिक्षण मंत्री विपुल गोयल व विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव टी.सी गुप्ता की उपस्थिति में आज हरियाणा सरकार ने ‘हीरो मोटोकॉर्प लिमिटेड’ तथा यूनाईटेड नेशनस की एजेंसी ‘यूनाईटेड नेशनस डिवलेपमैंट प्रोग्राम’ के साथ दो समझौता-पत्रों पर हस्ताक्षर किए।
हरियाणा सरकार की ओर से कौशल विकास एवं औद्योगिक प्रशिक्षण विभाग के महानिदेशक टी.एल सत्यप्रकाश ने, ‘हीरो मोटोकॉर्प लिमिटेड’ की ओर से सीएसआर एडवाइजर राजेश मुखीजा तथा ‘यूनाईटेड नेशनस डिवलेपमैंट प्रोग्राम’ की ओर से स्टेट प्रोजेक्ट हैड कुमारी कांता सिंह ने समझौता-पत्रों पर हस्ताक्षर किए हैं। 
कौशल विकास एवं औद्योगिक प्रशिक्षण मंत्री विपुल गोयल ने बाद में बताया कि हरियाणा सरकार प्रदेश में महिलाओं के सशक्तिकरण के लिए अनेक कदम उठा रही है। आज हुए समझौतों से जहां लड़कियों को दोपहिया वाहन चलाने का प्रशिक्षण दिया जाएगा वहीं दोपहिया वाहनों के बारे में तकनीकी कौशल की जानकारी देने के लिए भी कोर्स करवाया जाएगा, इससे लड़कियों में आत्मविश्वास बढ़ेगाा तथा उनके रोजगार के अवसरों में भी इजाफा होगा।
उन्होंने कहा कि ऑटोमोटिव सैक्टर आम तौर पर पुरूषों के एकाधिकार वाला क्षेत्र माना जाता था, परंतु अब हरियाणा की अंबाला स्थित आटीआई में लड़कियों को दोपहिया वाहनों का तकनीकी कौशल सिखाया जाएगा। यह कोर्स करने के बाद लड़कियां किसी वाहनों के शोरूम, कंपनी आदि में जॉब कर सकेंगी तथा अपनी रिपेयरिंग की दुकान भी खोल सकेंगी। इसी प्रकार लड़कियों को दोपहिया वाहन चलाने का प्रशिक्षण दिया जाएगा। इससे उनको अपने व्यक्तिगत कार्यों के लिए दोपहिया वाहन से आने-जाने में सुविधा होगी। उनके रोजगार की संभावनाओं में भी वृद्घि होगी।
कौशल विकास एवं औद्योगिक प्रशिक्षण विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव टी.सी गुप्ता ने बताया कि ‘यूनाईटेड नेशनस डिवलेपमैंट प्रोग्राम’ के तहत लड़कियों को वाहन चलाने का प्रशिक्षण लेने के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा। उन्होंने बताया कि राज्य की दस महिला आईटीआई में दोपहिया वाहन चलाने के प्रशिक्षण केंद्र खोले जाएंगे।
इनमें राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान (महिला) भिवानी, राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान(महिला) कैथल, राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान(महिला) चरखी दादरी, राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान(महिला) डूमरखां, राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान(महिला) जींद, राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान(महिला) फिरोजपुर झिरका, राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान(महिला) कुरूक्षेत्र, राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान(महिला) कालका, राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान(महिला) टोहाना तथा राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान(महिला) बहादुरगढ़ शामिल हैं। इनके अलावा राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान अंबाला में लड़कियों को तकनीकी कौशल सिखाने के लिए कोर्स करवाया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *