हरियाणा सरकार रही स्मार्ट, पेट्रोल-डीजल पर वैट कम रखकर भी हर साल कमा रही पंजाब से 2000 करोड़ ज्यादा

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें सरकार-प्रशासन हरियाणा हरियाणा विशेष

Yuva Haryana News

हरियाणा में भले ही पड़ोसी राज्य पंजाब से पेट्रोल के दाम काफी कम हो, लेकिन फिर भी हरियाणा सरकार तेल में ज्यादा कमाई कर रही है। दरअसल हरियाणा की सरकार पंजाब की सरकार से तेल के मामले में ज्यादा स्मार्ट है और करीब दो हजार करोड़ रुपये ज्यादा कमा रही है।

उत्तर भारत में पंजाब सरकार पेट्रोल पर सबसे ज्यादा वैट वसूलती है, करीब 35.25 फीसदी वैट वसूलने के बाद भी पंजाब सरकार रेवेन्यू वसूलने में हरियाणा सरकार से करीब दो हजार करोड़ पीछे हैं। वैट अधिक होने की वजह से पंजाब में हरियाणा समेत कई पड़ोसी राज्यों से पेट्रोल के रेट पंजाब में ज्यादा हैं।

पंजाब में ज्यादा रेट होने के कारण इसका फायदा हरियाणा, हिमाचल और चंडीगढ़ को मिल रहा है. पंजाब के लोग इन जगहों से भी पेट्रोल लेकर जाते हैं, जिस वजह से यहां की बिक्री ज्यादा बढ जाती है। पंजाब में जाने वाला ज्यादात्तर ट्रैफिक हरियाणा और चंडीगढ़ से होकर गुजरता है, ऐसे में हरियाणा से ज्यादा संख्या में तेल लेकर पंजाब में जाते हैं।

हरियाणा से होकर गुजरने वाले वाहन चालक पंजाब में पेट्रोल महंगा होने के चलते हरियाणा के पेट्रोल पंपों पर ही अपनी डिग्गी फुल करवा लेते हैं और कुछ दिनों तक इसी से अपना काम चलाते हैं. इतना ही नहीं कई वाहन चालक तो अपना स्टॉक भी साथ में करके चलते हैं। ये सारा तेल हरियाणा के पेट्रोल पंपों से ही लेकर जाते हैं।

हरियाणा इस समय पेट्रोल की बिक्री पर 26.25 फीसद वैट वसूल रहा है, जो पंजाब से 9 फीसद कम है। प्रदेश की राजधानी चंडीगढ़ में पेट्रोल पर 19.76 फीसद टैक्स वसूला जा रहा है, जो पंजाब से 15.49 फीसद कम है।

साल हरियाणा (राशि करोड़ में) पंजाब (राशि करोड़ में)
2014-15 5112 4179
2015-16 5977 4907
2016-17 7000 5833
2017-18 7655 5658

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *