हरियाणा में 200 करोड़ से ज्यादा का हुआ है दवा घोटाला: दुष्यंत चौटाला

चर्चा में बड़ी ख़बरें राजनीति सरकार-प्रशासन हरियाणा

Yuva Haryana

Haryana, 1-04-2018

इनेलो सांसद दुष्यंत चौटाला ने दावा किया कि हरियाणा में दवा और मेडिकल उपकरण खरीद में हुआ घोटाला 40 करोड़ रुपए का नहीं, बल्कि 200 करोड़ से ज्यादा का हुआ है। इस घोटाले से केंद्र भी अछूता नहीं रहा है।

उन्होंने कहा कि हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज या तो गलत आंकड़े प्रस्तुत करके जनता को गुमराह कर रहे हैं या फिर स्वास्थ्य अधिकारी उन्हें सही जानकारी न देकर अपना बचाव कर रहे हैं। अब यह फैसला मंत्री विज स्वयं करें कि उन्हें गुमराह होना है या करना है।

चौटाला ने कहा कि तीन वर्षों के दौरान करोड़ों रुपए की दवा, उपकरण व सामान खरीद में एकाउंट्स अफसर की चेकिंग या अनुशंसा नहीं है। ट्रेजरी के माध्यम से भुगतान नहीं किया है। सप्लाई करने वाली कंपनियों को करोड़ों रुपए का भुगतान सीधे बैंक खाते से चेक जारी कर किया गया।

यह सरासर बड़ा घोटाला है। सांसद ने आरटीआई से प्राप्त आंकड़ों को प्रस्तुत करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री मुफ्त इलाज योजना के तहत केंद्रीय व जिला स्तर पर करीब डेढ़ वर्ष में 176 करोड़ 24 लाख रुपए की दवा, उपकरण व अन्य सामान खरीदा है। वर्ष 2015-16 और 2017 के दिसंबर तक आंकड़ा है। एनएचएम के तहत हरियाणा के जिलों में 808 करोड़ 13 लाख 91 हजार 488 रुपए खर्च किए हैं, जबकि आधिकारिक वेबसाइट पर यह आंकड़ा 1457 करोड़ रुपए का है।

केंद्रीय स्तर पर हुए घोटाले का आरोप लगाते हुए कहा कि हरियाणा सरकार ने ओम सर्जिकल इंडस्ट्रीज से जम्मू-कश्मीर सरकार को दिए टेंडर रेट पर दवाइयां खरीदी, जबकि जम्मू-कश्मीर सरकार ने ओम सर्जिकल इंडस्ट्रीज को दो वर्ष के लिए ब्लैक लिस्ट कर दिया था। इस कंपनी के रेटों पर प्रदेश सरकार ने दवाइयां और अन्य मेडिकल सामान क्यों खरीदा। इधर, सीएम मनोहर लाल ने कहा कि इस मामले की जांच होगी, जो दोषी होगा, उसे छोड़ा नहीं जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *