पराली जलाने वाले किसानों पर प्रशासन की बड़ी कार्यवाही, 6 महीने तक नहीं होगी रजिस्ट्री और न बनेगा ड्राइविंग लाइसेंस

Breaking खेत-खलिहान चर्चा में बड़ी ख़बरें सरकार-प्रशासन हरियाणा हरियाणा विशेष

Suren Sawant, Yuva Haryana

Sirsa, 20 Nov, 2018

सिरसा के जिन गांवों में प्रशासन द्वारा जागरूक करने के बाद भी पराली जलाई गई है, उन गांवों की आगामी छह माह तक रजिस्ट्री नहीं होगी और ड्राइविंग लाइसेंस (डीएल) व वाहनों का रजिस्ट्रेशन (आरसी) नहीं किया जाएगा। इन गांवों के सरपंचों के खातों को छह माह के लिए सील कर दिया जाए। यह निर्देश सिरसा उपायुक्त प्रभजोत सिंह ने संबंधित अधिकारियों को दिए हैं।

उन्होंने जिला विकास एवं पंचायत अधिकारी को निर्देश दिये कि ऐलनाबाद खंड के गांव करीवाला के सरपंच ने पराली न जलाने के आदेशों का बहिष्कार करते हुए अपने खेत में पराली जलाई, इस पर सरपंच को निलंबित करने के आदेश दिए। उन्होंने सभी तहसीलदारों को निर्देश दिए कि कानूनगों, पटवारियों को सख्त निर्देश दें कि वे जहां भी पराली जलाई गई है उनका चालान काटें व पर्यावरण प्रदूषण नियम के तहत केस दर्ज करें।

उन्होंने निर्देश दिए हैं कि जिन गांवों में पराली जलाई जा रही है और जलाई जा चुकी है उन सभी गांवों के सरपंचों को नोटिस जारी करें। उन्होंने जिला राजस्व अधिकारी को भी निर्देश दिए कि साल 2016 से लेकर अब तक जिन गांवों के किसानों ने पराली जलाने के चालानों के भुगतान नहीं किए हैं, उनकी रिपोर्ट तथ्यों के साथ प्रदूषण विभाग को दें, ताकि उनके खिलाफ पर्यावरण प्रदूषण करने का केस दर्ज किया जा सके।

सिरसा के डीडीपीओ प्रितपाल सिंह ने बताया कि हरियाणा सरकार के निर्देश पर जिला उपायुक्त ने सभी अधिकारियों की बैठक ली गई थी जिसमे सख्त निर्देश दिए गए है कि जिन गांवों के किसानों ने परली को जलाया है उन पर कार्यवाही करते हुए आगामी छह माह तक रजिस्ट्री नहीं करने, ड्राइविंग लाइसेंस (डीएल) व वाहनों का रजिस्ट्रेशन (आरसी) नहीं बनवाने के आदेश दिए है। वही  गांव करीवाला के सरपंच और ग्राम सचिव के खिलाफ कार्यवाही करते हुए सस्पेंड किया गया है।

कृषि उप निदेशक डॉ बाबू लाल ने बताया कि सिरसा जिले में अब तक 1458 जगह पर पराली को आग जलने के मामले सामने आए हैं और 961 मामलों पर 15 लाख का जुर्माना किया गया है। वहीं करीब 11 लाख के किसानों को नोटिस दिए गए हैं। एक किसान पर केस दर्ज भी किया गया है। उन्होंने बताया कि आगे भी यही कार्यवाही जारी रहेगी।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *