जींद उपचुनाव में चुनाव प्रचार के दौरान कांग्रेस प्रत्याशी रणदीप सुरजेवाला ने चलाई बाइक, पीछे बैठे सांसद दीपेंद्र हुड्डा

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें राजनीति हरियाणा

Yuva Haryana,

Jind, 19 Jan,2019

कांग्रेस प्रत्याशी रणदीप सिंह सुरजेवाला और सांसद दीपेंद्र सिंह हुड्डा ने कहा है कि यह चुनाव यहां की दशा व दिशा बदलने का है, उपचुनाव में कांग्रेस की जीत से वो विकास पटरी पर आएगा जिससे जींद की जनता वंचित रही है।

शनिवार को दोनों ईक्कस, ईटल कलां, ईटल खुर्द, जाजवान, ढांडा खेड़ी, दरियावाला व संगतपुरा में चुनावी सभाओं को संबोधित कर रहे थे। उनके साथ विधायक जगबीर मलिक, प्रमोद सहवाग, जयप्रकाश रेढू, सुरेश गोयत, कर्मवीर सैनी, मनजीत सैनी आदि भी थे।

जींद का बेटा हूं – रणदीप

पांच वर्ष का मौका दें, जींद को मिलकर रोहतक और कैथल से बेहतर बनाएंगे

चुनावी सभाओं में उमड़ी भारी भीड़ को सम्बोधित करते हुए कांग्रेस के उम्मीदवार रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा कि धरती पर जन्म लेने के बाद जींद के संस्कार और संस्कृति ने मुझे ऊँगली पकड़ कर चलना सिखाया, दौड़ना सिखाया और फिर पंख लगाए, चाहे हरियाणा में सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्ड़ा के साथ मिलकर दस साल सरकार चलाई हो, चाहे देश की राजनीति में भागीदारी की हो, मैं हरियाणा, देश या दुनिया के किसी भी कोने में चला जाऊं, लेकिन बेटा हमेशा जींद की धरती का ही कहलाऊँगा।

सुरजेवाला ने कहा कि पार्टी हाईकमान ने जब उनको जींद से उम्मीदवार बनाया तो उन्हें जहाँ कर्त्तव्य का बोध हुआ, वहीँ धरती का क़र्ज़ और फ़र्ज़ उतारने का स्वार्थ भी पैदा हुआ। उनके साथी कहते थे जिस प्रकार कैथल में विकास हुआ है और जिस प्रकार से हमने रोहतक में विकास करवाया तो अपनी धरती जींद का विकास क्यों नहीं हो सकता।जींद की जनता पांच वर्ष का मौका दे, दीपेंद्र भाई भी मौजूद हैं, हम सब मिलकर जींद को रोहतक और कैथल से बेहतर बनाएंगे।

रणदीप ने कहा कि भाजपा के सांसद यहां से हैं, लेकिन जींद हलके की तस्वीर विकास के नाम पर आज भी धुंधली है। सीएम खट्टर ने कभी जींद की ओर आंख उठाकर नहीं देखा, एमपी कभी यहां आए नहीं। अगर एमएलए व एमपी यहां काम करते तो हमें आने की जरूरत नहीं थी। जींद विकास और मूलभूत सुविधाओं से पीछे हट गया था अब उसकी तस्वीर बदलने का समय आ गया है।

सुरजेवाला ने कहा कि जींद इलाके की बदहाल तस्वीर आप लोगों के सामने है।

यह सरकार जींद के युवाओं को 9 हजार रुपए की नौकरी के काबिल नहीं समझ रही तो हमारे इलाके के बच्चे आईएएस, आईपीएस, डीएसपी व अन्य पदों पर कैसे पहुंचेंगे। खट्टर सरकार ने नौकरियों के मामले में तो जींद के युवाओं से जमकर भेदभाव किया है। उन्होंने कहा कि स्टेडियम में कोच नहीं है और कॉलेज में प्राध्यापक नहीं है। खेल व पढ़ाई के मामले में जींद इलाके को पीछे करने की साजिश रची जा रही है। अब भाजपा की नीतियों से जनता रूबरू हो चुकी है और भाजपा सरकार की उल्टी गिनती शुरू हो गई है।

नाकारा सरकार ने प्रदेश को पीछे धकेला- दीपेंद्र

सांसद दीपेंद्र सिंह हुड्डा ने कहा कि 2014 में पहली बार अपने जुमलों को लेकर

हरियाणा में भाजपा की सरकार बनी थी तो प्रदेश की जनता को आशाएं थी कि खट्टर सरकार प्रदेश को आगे लेकर जाएगी। शिक्षा, रोजगार, प्रति व्यक्ति आय व खेत खलिहान में प्रदेश अव्वल बनेगा, लेकिन इस नकारा सरकार ने प्रदेश को कई साल पीछे धकेल दिया। उन्होंने कहा कि प्रदेश में 10 साल तक जब कांग्रेस सरकार थी तो प्रदेश का नाम हर क्षेत्र चाहे वह कृषि, प्रति व्यक्ति आय, खिलाडिय़ों का मान सम्मान, व्यापारियों का व्यापार, गरीब व पिछड़े वर्ग का कल्याण आदि मामले में पूरे देश में नंबर वन पर था। लेकिन आज की खट्टर सरकार ने प्रदेश के भाईचारे को बिगाडऩे, महिलाओं पर अत्याचार, लचर कानून व्यवस्था व गरीबों की अनदेखी का काम किया है। आज इस सरकार से हर वर्ग दुखी है, आम जनता से लेकर पंच-सरपंच तक सड़क पर आ गए हैं।

हुड्डा ने कहा कि इस सरकार का नारा है काम की आस छोड़ो, भाईचारा तोड़ो, मगर हमारा नारा है 36 बिरादरी के भाईचारे को मिटने नहीं देंगे, प्यार व भाईचारे की पगड़ी को झुकने नहीं देंगे। इस खट्टर सरकार ने प्रदेश में भाईचारे के बीच जहर के बीज बोए। उन्होंने कहा कि कांग्रेस सरकार में जींद में 11 हजार बीपीएल परिवारों को 100-100 वर्ग गज के प्लाट दिए गए। दो हजार परिवारों को इंदिरा गांधी आवास योजना के तहत मकान दिए गए। जींद में यूनिवर्सिटी, कॉलेज, रेलवे लाइन व अस्पताल का निर्माण करवाया गया। लेकिन भाजपा की खट्टर सरकार व इनेलो बताए कि अपने राज में उन्होंने जींद के लिए क्या किया। यह लोग अब किस मुंह से जींद की जनता से वोट मांग रहे हैं। इन्होंने तो अपने शासनकाल में जींद को विकास के नाम पर तरसाया ह्रै।

हुड्डा ने कहा कि अब दो नई पार्टियां और आ गई हैं, इनेलो व जेजेपी जो जींद की जनता की नहीं बल्कि आपस की लड़ाई लड़ रही हैं। यह दोनों पार्टियां देश व प्रदेश में बीजेपी की भाषा बोलती हैं। जेजेपी तो जूनियर बीजेपी पार्टी है।आप देख लेना कि बीजेपी को अगर सरकार बचाने की नौबत आएगी तो इन दोनों पार्टियों की ही मदद लेगी। उन्होंने कहा कि अगर विकास चाहिये और इलाके के तस्वीर बदलनी है तो कांग्रेस पार्टी को यहां से भारी मतों से जिताना होगा और बीजेपी को सत्ता से बाहर करना होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *